नागदा जंक्शन। इंगोरिया ब्रिज के नीचे खड़े टैंकर को मंगलवार की अलसुबह दुर्गापुरा का हिस्ट्रीशीटर अपने दो साथियों के साथ चुरा ले गया। टैंकर में दो जीपीएस लगे थे। आरोपितों ने एक जीपीएस निकाल दिया लेकिन दूसरे का पता नहीं लगा पाए। इसकी लोकेशन बड़नगर के खरसौदकलां गांव में मिलने से पुलिस ने पहुंचकर टैंकर पकड़ लिया। इसमें तीन आरोपित सवार थे। दो भागने में सफल हो गए। पुलिस ने तीन आरोपितों के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर मुख्य आरोपित को गिरफ्तार किया है।

पार्वती ट्रांसपोर्ट का टैंकर नंबर सीजी 04 जेए 6135 सोमवार की रात्रि में चालक इंगोरिया ब्रिज के नीचे खड़ा करके घर चला गया था। मंगलवार की सुबह लौटने पर चालक को टैंकर नहीं मिला तो इसकी जानकारी वाहन मालिक अश्विनी माहेश्वरी और मैनेजर जुल्फिकार को दी। मैनेजर ने टैंकर की जीपीएस लोकेशन मोबाइल पर चेक की तो लोकेशन बड़नगर और खरसौदकलां के बीच में आई। मैनेजर अपने दो कर्मचारियों व पुलिस के साथ टैंकर का पीछा करते हुए मौके पर पहुंच गए और खरसौदकलां से पहले टैंकर को एक आरोपित दुर्गापुरा निवासी विजय उर्फ कालू को टैंकर के साथ पकड़ लिया। टीआइ करणसिंह पाल ने बताया कि टैंकर चोरी के आरोपित विजय और उसके दो सहयोगी राजेश और विजय दोनों निवासी खाचरौद के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया है, जिसमें से विजय उर्फ कालू को गिरफ्तार किया है, जबकि दो फरार आरोपितों की तलाश जारी है। मुख्य आरोपित विजय हिस्ट्रीशीटर बदमाश है, जो अभी तक चार टैंकर चोरी की वारदात को अंजाम दे चुका है। बिरलाग्राम थाने में वर्ष 2018 में टैंकर चोरी का प्रकरण दर्ज है। राजेश और विजय का आपराधिक रिकार्ड खंगाला जा रहा है। मैनेजर जुल्फिकार ने बताया कि टैंकर में दो जीपीएस थे, जिसमें से एक जीपीएस आरोपित ने निकाल दिया था। चोरी हुए टैंकर की कीमत लगभग आठ लाख रुपये बताई जा रही है। इधर टीआइ पाल का दावा है कि हमने मुखबीर की सूचना से टैंकर को खरसौदकला जाकर पकड़ा, जिसमें एएसआइ हीरेंद्रप्रतापसिंह चौहान, प्रधान आरक्षक प्रवीण जाट, आरक्षक जितेंद्रसिंह सेंगर, बलराम जाट, प्रद्युम्नसिंह, रामनारायण का सहयोग रहा।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close