कोरोना महामारी : अधिकारियों की बैठक में कोई नई तैयारी नहीं

- जिले से स्वास्थ्य विभाग का अतिरिक्त स्टाफ नहीं भेजा, बच्चों के उपचार की भी कोई व्यवस्था नहीं

नागदा जं.। कोरोना की तीसरी लहर से निपटने के लिए तैयारी को लेकर मंगलवार को स्थानीय प्रशासन ने कई विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक की। दूसरे दौर की जो तैयारियां थी उसके अलावा कोई नई तैयारी सामने नहीं आई। शासकीय अस्पताल व बीमा कोविड सेंटर के कई वार्ड में बारिश के दौरान भी पानी टपक रहा है। शासकीय अस्पताल में आक्सीजन प्लांट में एक माह बाद भी मशीन नहीं आई।

तीसरी लहर के खतरे को देखते हुए प्रशासन तैयारियों में जुट गया है। मंगलवार को एसडीएम आशुतोष गोस्वामी ने सर्किट हाउस पर बैठक आयोजित की। इसमें पूर्व की व्यवस्थाओं को दोहराया गया। शासकीय अस्पताल में आक्सीजन प्लांट का कार्य एक माह से चल रहा है। उसमें सिर्फ इंफ्रास्ट्रक्चर तैयार हुआ है। प्लांट की मशीनें अभी तक नहीं आई है। शासकीय अस्पताल में 30 बेड का कोविड सेंटर बनाया जा रहा है। पुराना भवन होने के कारण कई कमरों में बारिश में पानी टपक रहा है। तेज बारिश होगी तो पानी के कारण बेड नहीं लग पाएंगे। बीमा कोविड सेंटर में दूसरी लहर में ही पूरी तरह रिपेयरिंग किया गया था। यहां भी पानी टपक रहा है। तीसरी लहर के लिए एक माह पूर्व डाक्टर, नर्स, वार्डबाय सहित सुरक्षागार्ड 20 का स्टाफ उपलब्ध कराने के लिए पत्र लिखा गया है। जिले से अभी तक न तो कोई स्टाफ भेजा है और न ही कोई जवाब दिया गया है। तीसरी लहर में बच्चों को ज्यादा खतरा बताया गया है। ऐसे में बच्चों के डाक्टर व इसकी कोई तैयारियां नहीं की जा रही है। जिले के वरिष्ठ अधिकारी भी इस ओर ध्यान नहीं दे रहे हैं। मंगलवार को एसडीएम आशुतोष गोस्वामी की अध्यक्षता में सर्किट हाउस में हुई बैठक में समीक्षा की गई। इसमें बीमा कोविड सेंटर में 50 बेड पर आक्सीजन लाइन व 26 बेड अतिरिक्त रहने व शासकीय अस्पताल में आक्सीजन प्लांट लगने के बाद लगभग 30 बेड आक्सीजन लाइन डालने की जानकारी दी। जिले से स्टाफ नहीं आने पर एसडीएम ने बीमा अस्पताल के इंचार्ज डा. माठे को आदेश दिए कि वह अपने स्टाफ को तैयार रखें। तीसरी लहर में उनसे भी सेवा ली जाए। अस्पताल में फंड नहीं होने की जानकारी के बाद एसडीएम ने अस्पताल की दुकानों का किराया बढ़ाए जाने व एक अतिरिक्त दुकान प्याऊ रोड पर बनाए जाने की कार्यवाही करने के निर्देश दिए। माठे ने अस्पताल परिसर में असामाजिक तत्वों के जमावड़े की जानकारी दी। सीएसपी रत्नाकर ने संबंधित थाना प्रभारी को इस पर नजर रखकर ऐसे लोगों पर कार्यवाही करने के निर्देश दिए। बैठक में मेडिकल आफिसर डा. संदीप डुंगरवाल, तहसीलदार आशीष खरे, अपर तहसीलदार अनु जैन, टीआई श्यामचंद्र शर्मा, बिरलाग्राम इंचार्ज टीआइ हेमंतसिंह जादौन, आंगनबाड़ी सुपरवाइजर शोभना कनेरे, राहत खान, सुषमा यादव, लोनिवि एसडीओपी गौतम अहिरवार, इंजी. अरुण दुबे, महेंद्र अरोड़ा, रितेश उपाध्याय, ललितदास पंथी आदि मौजूद थे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local