उज्जैन, Ujjain News। बड़नगर रोड स्थित निर्मल पंचायती अखाड़े के महंत बेअंतसिंह ने 14 बीघा खेत में खड़ी गेहूं की फसल काटकर महाकाल मंदिर की गोशाला को दान कर दी है। बकौल महंत मंदिर की गोशाला में अनुभूति हुई की गायों को चारे की आवश्यकता है। इस पर तत्काल निर्णय लेते हुए अखाड़े के खेत में खड़ी गेहूं की फसल को कटवाकर गोशाला भेजना शुरू कर दिया है। सहायक प्रशासक मूलचंद जूनवाल ने बताया निर्मल अखाड़े के महंत बेअंतसिंह के साथ मंगलवार को चिंतामन स्थित गोशाला देखने पहुंचे थे। उन्होंने गोशाला की व्यवस्था देखी तथा गोवंश के लिए चारे आदि के इंतजामों की जानकारी ली।

उन्हें बताया गया कि जन सहयोग से भी गायों के लिए चारे का इंतजाम किया जाता है। इस पर वे मुझे बड़नगर रोड स्थित अखाड़े की जमीन पर लेकर आए तथा यहां 14 बीघा में खड़ी गेहूं की फसल को कटवाकर गोशाला में भेजना शुरू कर दिया। पहले दिन दो ट्रॉली चारा गोशाला पहुंचाया गया है। आने वाले दिनों में प्रतिदिन फसल कटवाकर गोशाला भेजी जाएगी।

महंत विनीतगिरी दे चुके हैं गोधन लेने का प्रस्ताव

निर्मल अखाड़े के महंत बेअंतसिंह के चारा दान करने के निर्णय से पहले, महानिर्वाणी अखाड़े के महंत विनीतगिरी मंदिर की गोशाला से गोधन लेने का प्रस्ताव दे चुके हैं। बतादें कुछ समय पहले मंदिर की गोशाला में जहरीला चारा खाने से गायों की मौत हो गई थी। इस घटना से महंत विनीतगिरी दुखी थे, उन्होंने बीते दिनों प्रबंध समिति की बैठक में बड़नगर रोड स्थित महानिर्वाणी अखाड़े की भूमि पर गोशाला खोलने की इच्छा जताते हुए, मंदिर की गोशाला में पल रही गायों को उन्हें सौंपने का प्रस्ताव दिया था।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस