Ujjain News: उज्जैन (नईदुनिया प्रतिनिधि)। जिला सहकारी केंद्रीय बैंक की घट्टिया शाखा में करीब 80 लाख रुपये के गबन के मामले में बैंक प्रबंधक सहित पांच कर्मचारियों को निलंबित कर दिया गया है। इसके साथ ही एक कर्मचारी की सेवा भी समाप्त कर दी गई है। मामला पुलिस को सौंपा गया है। इसमें जल्द एफआइआर भी होगी।

गबन-धांधली 2019 से चल रही थी

संयुक्त पंजीयक बीएल मकवाना ने गुरुवार को प्रबंधक महेशचंद्र राठौर, पूर्व प्रबंधक शिव हरदेनिया, कैशियर सुमेरसिंह, क्लर्क सोनमसिंह, सत्येंद्र शर्मा को निलंबित कर दिया। इसके अलावा आउट सोर्स पर रखे गए क्लर्क कैलाश चौधरी की सेवा भी समाप्त कर दी गई। मकवाना के अनुसार गबन-धांधली 2019 से चल रही थी। अब तक 17 किसानों के नाम से फर्जी खातों में पैसा डाला और निकाला गया।

2021 तक कुल 79.39 लाख रुपये गबन किए गए

इस तरह 2021 तक कुल 79.39 लाख रुपये गबन किए गए। इस मामले में घट्टिया शाखा के कैशियर सुमेरसिंह परिहार को पहले ही कैशियर पद से हटाया जा चुका है। वहीं चिमनगंज कृषि मंडी बैंक के मैनेजर महेंद्र जाटवा को नया प्रबंधक बना दिया है। अधिकारियों ने बताया कि फिलहाल मामले की और जांच की जा रही है। इसमें कई लोगों के नाम सामने आ सकते हैं।

लाखों का गबन

बैंक की घट्टिया शाखा में लाख रुपये का गबन हुआ है। जांच रिपोर्ट के आधार पर प्रबंधक सहित पांच को निलंबित किया है। एक को सेवा मुक्त भी किया गया है। पुलिस को भी मामला जांच के लिए देंगे। दोषियों पर प्रकरण दर्ज करवाया जाएगा।

- बीएल मकवाना, संयुक्त पंजीयक व बैंक प्रशासक

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

NaiDunia Local
NaiDunia Local