-सुबह व शाम के सत्रों में भागवत कथा में बरस रहा भक्ति रस

उज्जैन (नईदुनिया प्रतिनिधि)। भरतपुरी स्थित इस्कान मंदिर में नौ दिवसीय जगन्नााथ उत्सव की धूम मची हुई है। गुंडिचा नगरी में भक्त भगवान जगन्नााथ की भक्ति में लीन हैं। सुबह व शाम के सत्रों में भगवत कथा में भक्ति रस बरस है। धार्मिक मान्यता के अनुसार देर शाम भगवान जगन्नााथ के आमोद प्रमोद के लिए सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन भी किया जा रहा है। मंगलवार को गुंडिचा के कला मंच पर स्थानीय कलाकारों ने खूब रंग जमाया। बच्चों की उत्कृष्ट प्रस्तुति देख श्रोता मंत्र मुग्ध रह गए।

पीआरओ राघव पंडित दास ने बताया प्रातः कालीन सत्र में केशव प्रभुजी ने कथा सुनाई। संध्या कालीन सत्र में रमाकांत प्रभुजी के श्रीमुख से भक्तों ने भागवत कथा सुनी। देर शाम आयोजित सांस्कृतिक शाम में स्थानीय कलाकारों की चार प्रस्तुति हुई। प्रथम प्रस्तुति डा.अर्चना तिवारी के निर्देशन में दो बाल कलाकारों ने गायन प्रस्तुति किया। बाल कलाकार सा-वी जैन ने मधुर आवाज में द्यछोटी छोटी गैया...छोटे छोटे ग्वाल गीत प्रस्तुत किया। इसके बाद बाल कलाकार वंश मलिक ने राजिस्थानी भजन द्यथाणे कई कई बोल सुणावा प्रस्तुत किया। दूसरी प्रस्तुति में अवंति स्कूल ऑफ एक्सिलेंस के 51 बच्चों ने श्रीकृष्ण लीला पर आधारित सामूहिक नृत्य नाटिका प्रस्तुत की। तीसरी प्रस्तुति में प्रेक्षा शर्मा का एकल नृत्य हुआ। शाम का समाहार डा.खुशबू पांचाल के निर्देशन में नृत्याराधना नृत्य मंदिर के 50 बाल कलाकारों ने कथक शैली में नृत्य प्रस्तुत किया। कार्यक्रम का संचालन माधव तिवारी ने किया।

बाल कलाकार सा-वी जैन ने मधुर आवाज में द्यछोटी छोटी गैया...छोटे छोटे ग्वाल गीत प्रस्तुत किया। इसके बाद बाल कलाकार वंश मलिक ने राजिस्थानी भजन द्यथाणे कई कई बोल सुणावा प्रस्तुत किया। दूसरी प्रस्तुति में अवंति स्कूल ऑफ एक्सिलेंस के 51 बच्चों ने श्रीकृष्ण लीला पर आधारित सामूहिक नृत्य नाटिका प्रस्तुत की। तीसरी प्रस्तुति में प्रेक्षा शर्मा का एकल नृत्य हुआ। शाम का समाहार डा.खुशबू पांचाल के निर्देशन में नृत्याराधना नृत्य मंदिर के 50 बाल कलाकारों ने कथक शैली में नृत्य प्रस्तुत किया। कार्यक्रम का संचालन माधव तिवारी ने किया।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close