Ujjain News: उज्जैन (नईदुनिया प्रतिनिधि)। ज्योतिर्लिंग महाकाल मंदिर में 28 जनवरी को नर्मदा जयंती उत्सव मनाया जाएगा। शाम छह बजे गोधूलि वेला में कोटितीर्थ कुंड पर माता नर्मदा का पंचामृत अभिषेक पूजन होगा। साथ ही पांच हजार दीपक से दीपमालिका सजाई जाएगी। पुजारी पं. बाला गुरु ने बताया कि पुजारियान समिति के अध्यक्ष पं. विजय शंकर पुजारी के सान्निध्य में मंदिर के पुजारी–पुरोहित परिवार द्वारा 23 वर्षों से नर्मदा जयंती उत्सव मनाया जा रहा है। इस बार यह उत्सव शनिवार को मनाया जाएगा। रामघट तीर्थ पुरोहित समिति द्वारा मोक्षदायिनी शिप्रा के रामघाट पर नर्मदा जयंती उत्सव मनाया जाएगा। धर्माधिकारी तीर्थ पुरोहित पं. गौरव उपाध्याय ने बताया कि गोधूलि वेला में माता शिप्रा–नर्मदा का पंचामृत अभिषेक–पूजन कर महाआरती की जाएगी।

यह है कोटितीर्थ कुंड की मान्‍यता

मान्यता के अनुसार महाकाल मंदिर के कोटितीर्थ कुंड में कोटि तीर्थों का वास है। माता नर्मदा भी उन्हीं में से एक है। नर्मदा जयंती पर जो भक्त नर्मदा के तट पर नहीं जो पाते हैं, वे महाकाल मंदिर में आकर उनकी पूजा–अर्चना करते हैं। शाम को कोटितीर्थ कुंड पर 11 ब्राह्मणों द्वारा लघुररुद्र पाठ से माता नर्मदा का पंचामृत अभिषेक–पूजन किया जाएगा। कुंड की सीढ़ियों पर पांच हजार दीप प्रज्वलित किए जाएंगे। आरती–पूजन के पश्चात भक्ताें को हलवा महाप्रसादी का वितरण होगा।

Posted By: Navodit Saktawat

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close