- ग्रासिम और नपाकर्मियों के रेस्क्यू के बाद बिरलाग्राम जनसेवा मार्ग खुला

नागदा जंक्शन। शहर सहित आसपास के क्षेत्रों में मंगलवार की दोपहर बिजली की गड़गड़ाहट के साथ झमाझम बरसात से जीवन अस्त-व्यस्त कर दिया। आधा दर्जन से अधिक टापरियों के चद्दर उड़कर चले गए। एक मकान की छत गिरने से गृहस्थी का सामान गिला हो गया। बिरलाग्राम से लेकर जनेसवा पहुंच मार्ग पेड़ गिरने के कारण लगभग दो घंटे तक बंद हो गया। न्यायालय परिसर में भी पेड़ गिरने से अफरा-तफरी मची। नगरपालिका और ग्रासिमकर्मियों के रेस्क्यू के बाद यातायात शुरू हो सका।

बरसात की खेंच होने से किसान परेशान हो रहे थे। इंद्र देवता मेहरबान हुए तो व्यवस्था चौपट हो गई। मंगलवार की दोपहर लगभग दो बजे से झमाझम बरसात से बड़ी संख्या में पेड़ गिर गए, जिससे कहीं यातायात बाधित हो गया तो कहीं मकानों को नुकसान पहुंचा। कहीं जनहानि नहीं हुई। शहर में दो घंटे में लगभग 66 एमएम बरसात हुई, जबकि सोमवार की रात में 18 एमएम बरसात दर्ज की गई। इस तरह 24 घंटे में 84 एमएम बरसात हुई। इस वर्ष की मंगलवार शाम तक 12 इंच बरसात दर्ज की। पिछले वर्ष अभी तक लगभग 160 एमएम बरसात दर्ज की थी। बिरलाग्राम के मुख्य मार्केट से लेकर जनसेवा पहुंच मार्ग, ग्रासिम गेस्ट हाउस के आसपास दर्जनों पेड़ धराशायी हो गए। सूचना पर ग्रासिम उद्योग के वरिष्ठ उपाध्यक्ष सुधीरसिंह सहित अजय माहेश्वरी आदि ने मौके पर पहुंचकर स्थिति को संभाला और अधिकारियों को निर्देशित किया, जिससे मार्ग लगभग दो घंटे तक बंद रहा। ग्रासिम उद्योग कर्मचारियों ने लगभग दो घंटे तक रेस्क्यू किया। ग्रासिम प्राथमिक विद्यालय के मुख्य द्वार पर पेड़ गिरने से मां सरस्वती का शेड टूट गया। आदित्य बिरला पब्लिक स्कूल के मुख्य द्वार पर पेड़ गिरने से आवाजाही बंद हो गई। आदित्य बिरला उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के मुख्य एवं अन्य गेट पर पेड़ गिरने से रास्ता बंद हो गया, जहां सुरक्षाकर्मियों को तैनात किया गया। नूरानी मस्जिद के समीप वर्षों पुराना पेड़ गिरने से बिजली के तार टूट गए। ग्रासिम उद्योग के इंजीनियरिंग डिपार्टमेंट के वर्षों पुराने शेड की चद्दर तेज हवा और आंधी में उड़कर दुर्गापुरा पहुंच मार्ग पर पहुंच गई। गनीमत रही कोई जनहानि नहीं हुई। न्यायालय परिसर में बरसात के कारण पानी भर गया। इस दौरान एक पेड़ न्यायाधीश की कार के पिछले हिस्से पर गिर गया। यादगार होटल के समीप एक मकान धराशायी हो गया। विद्यानगर में आधा दर्जन मकानों की दीवार गिर गई।

पूर्व विधायक ने बरसात में दौरा किया

पूर्व विधायक दिलीपसिंह शेखावत सी ब्लाक की टापरी क्षेत्र में पहुंचकर जिन स्थानों पर नुकसान हुआ, उनसे मुलाकात की और नुकसानी की भरपाई कराने का आश्वासन दिया। इस दौरान राजकुमार साहनी, अतुल शर्मा, मोटी ठाकुर, अंकुर साहनी, अजयसिंह शेखावत सहित भाजपा कार्यकर्ता मौजूद रहे। शेखावत ने बताया कि जिन व्यक्तियों के गृहस्थी का सामान गीला हो गया है, उनके लिए भोजन की व्यवस्था कार्यकर्ताओं द्वारा की जा रही है।

विधायक गुर्जर ने भोजन व्यवस्था कराई

सी ब्लाक टापरी में बरसात के कारण आधा दर्जन से अधिक टापरियों के चद्दर उड़कर चले गए, जबकि एक दर्जन से अधिक मकानों की छत गिरने से गृहस्थी का सामान गीला हो गया। विधायक दिलीपसिंह गुर्जर, शहर कांग्रेस अध्यक्ष राधे जायसवाल पहुंचे और अस्थायी शिविर में भोजन व्यवस्था करने का आश्वासन दिया। विधायक गुर्जर ने प्रशासनिक अधिकारियों को क्षेत्र में पहुंचकर पंचनामा बनाने के निर्देश दिए।

फिल्टर प्लांट में पेड़ गिरने से व्यवस्था चरमराई

नगरपालिका के चंबल नदी के तट पर स्थित फिल्टर प्लांट पर बरसात के कारण पेड़ धराशायी हो गए, जिससे फिल्टर प्लांट का मुख्य द्वार बंद हो गया। नगरपालिका ने जेसीबी और कटर की मदद से धराशायी पेड़ों को हटाया और लगभग दो घंटे बाद यातायात चालू हो सका। फिल्टर प्लांट परिसर में केमिकल डिवीजन उद्योग की स्टाफ कालोनी की दीवार गिर गई। केमिकल उद्योग के प्रवेश द्वार एवं साइकिल स्टैंड परिसर में पानी भरा गया।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close