उज्जैन। मध्यप्रदेश के उज्जैन में गुरुवार दोपहर हुए भीषण सड़क हादसे में एक बस ने बाइक पर जा रहे दो युवकों को रौंद दिया। एक की मौके पर ही मौत हो गई वहीं दूसरे ने अस्पताल में दम तोड़ दिया। दोनों पटवारी थे और विभागीय परीक्षा देकर लौट रहे थे। गुस्साए लोगों ने बस में तोड़फोड़ कर आग लगाने का प्रयास किया। इस घटना के बाद उज्‍जैन पुलिस ने घटनास्थल इंदौर रोड पर पहुंच स्थिति को नियंत्रण में किया।

मृतक ऋतुराज सिंह महिदपुर में पदस्थ था। उसकी दो दिन पूर्व ही शादी हुई थी। बुधवार को ही वह बरात लेकर घर लौटा था। वहीं उसकी बहन की गुरुवार को शादी थी तथा बरात होटल में आ गई थी। दूसरा पटवारी अनिल उत्तर प्रदेश के वाराणसी का रहने वाला था तथा वायुसेना से सेवानिवृत्त होकर शासकीय सेवा में आया था। नानाखेड़ा पुलिस ने आरोपित बस चालक के खिलाफ केस दर्ज किया है।

पुलिस के मुताबिक महिदपुर में पदस्थ पटवारी जहांगीपुरा इंगोरिया निवासी ऋतुराज सिंह पुत्र मनोहर सिंह राठौर (29) गुरुवार को अपने साथी व खाचरौद में पदस्थ पटवारी अनिल पुत्र शीतलप्रसाद मिश्र निवासी वाराणसी (उप्र) हाल मुकाम तिरुपति सेफरॉन कॉलोनी विभागीय परीक्षा देने के लिए प्रशांतिधाम इंस्टीट्यूट गए थे।

दोपहर करीब डेढ़ बजे दोनों बाइक से लौट रहे थे। इसी दौरान तपोभूमि तिराहे पर इंदौर से आ रही बस क्रमांक एमपी-13-पी-9155 ने उनकी बाइक को टक्कर मार दी। इससे ऋतुराज सिंह की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि अनिल को गंभीर हालत में निजी अस्पताल ले जाया गया। यहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। पुलिस के अनुसार आरोपित बस चालक फरार है।

भाई-बहन का साथ था आशीर्वाद समारोह

पुलिस के अनुसार ऋतुराज सिंह की दो दिन पूर्व ही शादी हुई थी। बुधवार को ही वह बरात लेकर लौटा था। इंदौर रोड स्थित होटल में गुरुवार को उसकी बहन की भी शादी थी। बरात भी आ चुकी थी। दोनों की शादियों का आशीर्वाद समारोह भी आयोजित किया गया था। सारे मेहमान आ चुके थे पर भाई की मौत की खबर मिलते ही शादी की खुशियां मातम में बदल गईं।

Posted By: Hemant Upadhyay