उज्जैन। ज्योतिर्लिंग महाकाल मंदिर के समीप स्थित बड़ा गणेश मंदिर में शनिवार को तिथि अनुसार गणतंत्र दिवस मनाया गया। ज्योतिर्विद पं.आनंदशंकर व्यास के सानिध्य में वेदपाठी बटुकों के राष्ट्रीय ध्वज फहराया तथा स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों का पुण्य स्मरण किया। कार्यक्रम में दादागुरु पं.नारायणजी व्यास की पूजा अर्चना भी की गई। देशभक्ति से ओतप्रोत कार्यक्रम में बड़ी संख्या में नगरवासी मौजूद थे।

गणतंत्र के आराध्य देव के रूप में पूजित भगवान बड़े गणेश के मंदिर में राष्ट्रीय त्योहार व महापुरुषों की जयंती तिथि के अनुसार मनाई जाती है। पं.व्यास ने बताया 26 जनवरी 1950 को जिस दिन देश में गणतंत्र लागू हुआ, उस दिन माघ मास के शुक्ल पक्ष की अष्टमी तिथि थी। प्रतिवर्ष माघ शुक्ल अष्टमी को मंदिर में गणतंत्र दिवस मनाया जाता है। पं.व्यास के अनुसार हिंदू धर्म परंपरा में पर्व व त्योहार तिथियों के अनुसार मनाए जाते हैं। जब तक हम राष्ट्रीय पर्व तिथि के अनुसार नहीं मनाएंगे हिंदू राष्ट्र की कल्पना नहीं की जा सकती है। बड़े गणेश मंदिर से प्रेरणा लेकर शनिवार को इंदौर, भोपाल व दिल्ली में भी कुछ स्थानों पर गणतंत्र दिवस मनाया गया।

देवनारायण जयंती...सुबह पूजा अर्चना, शाम को भंडारा

उज्जैन। ग्राम गोनसा स्थित प्राचीन देवनारायण मंदिर में शनिवार को भगवान देवनारायणजी का जन्मोत्सव मनाया गया। सुबह भगवान का अभिषेक पूजन कर चोला श्रृंगार किया गया। शाम को गोधूलि वेला में प्रभुलाल चौधरी पंडाजी के सानिध्य में समाज के राष्ट्रीय अध्यक्ष शैतानसिंह पाल ने भगवान महाभोग लगाकर आरती की। इस दौरान बड़ी संख्या में भक्त मौजूद थे। आरती के उपरांत भजन संध्या व भंडारे का आयोजन हुआ। सैकड़ों भक्तों ने महाप्रसादी ग्रहण की। भगवान के जन्मोत्सव पर मंदिर में आकर्षक विद्युत व पुष्प सज्जा की गई थी।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local