बड़नगर। उज्जैन-फतेहाबाद नवीन रेल खंड शुरू होने के महीनों बीतने के बावजूद उज्जैन-रतलाम व्हाया फतेहाबाद तथा इंदौर-रतलाम-उज्जैन-इंदौर सर्किल ट्रेन प्रारंभ नहीं की गई। इस रेल खंड की रेल प्रशासन व जनप्रतिनिधियों ने उपेक्षा की है।

इसी तरह की कई समस्याओं और रेल सुविधाओं की मांग को लेकर रेल उपभोक्ता संघ के प्रतिनिधिमंडल ने एसडीएम निधिसिंह को मांग पत्र सौंपा। मांग पत्र में इंदौर-नई दिल्ली साप्ताहिक समर स्पेशल ट्रेन को 24 जून के पश्चात निरंतर चलाते रहने, जयपुर-हैदराबाद तथा अजमेर-रामेश्वरम साप्ताहिक ट्रेन को बड़नगर में ठहराव देने, इंदौर-जबलपुर ओवर नाइट ट्रेन को फतेहाबाद के रास्ते रतलाम तक विस्तार देने, इंदौर से कोटा, उज्जैन से अजमेर, उदयपुर व बीकानेर के लिए व्हाया फतेहाबाद नई ट्रेन चलाने, उज्जैन-भोपाल व उज्जैन-देहरादून ट्रेन को फतेहाबाद के रास्ते रतलाम तक विस्तार देने, उज्जैन से फतेहाबाद नवनिर्मित विद्युतीकृत रेल खंड पर बड़नगर-रतलाम-खाचरौद-नागदा-उज्जैन के लिए सर्किल ट्रेन चलाए जाने की मांगें प्रमुख हैं। प्रतिनिधिमंडल में राजकुमार जैन, डा. डीके विश्वास, अतुल लाठी, सुभाष गुप्ते, प्रमेंद्र बारोड़, सीपी गोस्वामी, दिलीप पंचाक्षरी, राकेश सरनोत, संजय चौहान, प्रकाश नवधाने, मुस्तफा पेटीवाला, ललित सुरेश सोनी, दिनेश शर्मा, कार्तिक विजयवर्गीय आदि उपस्थित थे। जानकारी रेल उपभोक्ता संघ बड़नगर के संयोजक प्रेमनारायण पोरवाल ने दी।

ओम के उच्चारण से प्रारंभ किया योग

उन्हेल। सरस्वती शिशु मंदिर रेलवे स्टेशन उन्हेल के विद्यार्थियों ने ओम के उच्चारण से योग प्रारंभ किया। संस्था प्रधान राजेश चौधरी ने कहा कि योग दिवस का मुख्य उद्देश्य लोगों में योगाभ्यास के प्रति जागरूकता लाना है। योग शिक्षक संतोष नायमा एवं सोनिया सोलंकी ने भी अपने विचार रखे। इस अवसर पर विद्यालय के संयोजक राकेश धाकड़ सहित कई अभिभावक गण उपस्थित थे। इसी तरह समीपस्थ ग्राम आलोट जागीर में शासकीय उमावि में भी विद्यार्थियों एवं स्टाफ ने योग, व्यायाम कर योग दिवस मनाया।

सामूहिक योग किया

बड़नगर। मानव जीवन एवं समाज में योग के महत्व को स्थापित करने के उद्देश्य से गीता भवन न्यास समिति अखिल विश्व गायत्री परिवार शांतिकुंज की स्थानीय शाखा के संयुक्त तत्वावधान में अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर योग प्राणायाम किया गया। इसमें सहजयोग परिवार से अरूण चक्रधारी ने कुंडली जागरण एवं ध्यान द्वारा आत्म साक्षात्कार की अनुभूति करवाई। इसी के साथ यौगिक श्वसन का अभ्यास योग शिक्षिका ललिता अजमेरा ने यौगिक क्रियाएं करवाई। अंत में सामूहिक शांति पाठ किया गया। जानकारी सुभाष गुप्ते ने दी।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close