उज्जैन (नईदुनिया प्रतिनिधि), Ujjain Poisonous Liquor Case। जहरीली शराब से हुई 14 लोगों की मौत के बाद पुलिस अब मजदूरों व भिक्षुकों से यह पता लगाने में जुटी है कि वह शराब पीते हैं या नहीं। अगर पीते हैं तो कहां से लाकर पीते हैं। इसके अलावा उन लोगों के नाम-पते, उम्र सहित अन्य जानकारियां भी ली जा रही हैं। एसपी के निर्देश के बाद थानावार सूची बनाई जा रही है। माधवनगर पुलिस ने अब तक 15 लोगों की सूची बना भी ली है।

जहरीली शराब कांड से शहर में बीते दिनों 14 लोगों की मौत हो गई थी। मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने एसआइटी का गठन किया था। इसकी जांच रिपोर्ट के आधार पर एसपी मनोजसिंह, एएसपी रूपेश द्विवेदी को हटाने के आदेश आ गए थे। वहीं सीएसपी रजनीश कश्यप सहित खाराकुआं टीआई व 9 पुलिसकर्मी निलंबित हो गए थे। तीन आरक्षकों शेख अनवर, नवाज शरीफ, सुदेश खोड़े को गैर इरादतन हत्या के मामले में आरोपित बनाया गया था। शेख अनवर व नवाज को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। वहीं सेवा से भी बर्खास्त कर दिया गया है।

फिर से ना हो जिंजर कांड, नजर रख रही पुलिस

जिले में फिर से जिंजर कांड या अवैध शराब से लोगों की मौत ना हो इसके लिए पुलिस सर्तक हो गई है। एसपी सत्येंद्र कुमार शुक्ला ने सभी थाना प्रभारियों को अपने-अपने क्षेत्रों में फुटपाथ पर रहने वाले लोगों की जानकारी जुटाने को कहा है। इसमें मजदूर व भिक्षुक भी शामिल हैं। ऐसे लोगों के नाम-पते व पहचान पत्र एकत्र करने के अलावा यह भी पूछा जा रहा है कि वह शराब पीते हैं या नहीं, अगर शराब पीते हैं तो कौन सी शराब पीते है और कहां से लाते हैं, यह भी पता लगाया जा रहा है।

Posted By: Prashant Pandey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस