उज्जैन (नईदुनिया प्रतिनिधि)। महाकाल मंदिर परिसर से पकड़े जाने के बाद गैंगस्टर विकास दुबे को पहले महाकाल थाने और फिर भैरवगढ़ थाने ले जाया गया था। 11 घंटे की पूछताछ के बाद गुरुवार रात 7.30 बजे उप्र एसटीएफ के तीन अधिकारी और उज्जैन पुलिस के 20 अधिकारी-कर्मचारी चार-अलग-अलग गाड़ियों में उसे लेकर उप्र सीमा की ओर रवाना हुए।

पुलिस के विश्वसनीय सूत्रों के अनुसार हमले की आशंका के चलते पुलिस टीम और दुबे को बुलेट प्रूफ जैकेट पहनाया गया था। साथ ही गैंगस्टर को हथकड़ी भी लगाई गई थी। शिवपुरी के आगे उसे लेने उप्र पुलिस का बल पहुंच चुका था। यहां दुबे की सुपुर्दगी के बाद उज्जैन पुलिस लौट आई।

अधिकारियों ने बताया कि पूरे रास्ते दुबे कभी अकड़ता तो कभी मिमियाता रहा। भैरवगढ़ थाने में पूछताछ के बाद दुबे को उप्र एसटीएफ के तीन अधिकारियों के साथ उज्जैन पुलिस की 20 लोगों की टीम उत्तर प्रदेश की ओर लेकर रवाना हुई थी। उज्जैन पुलिस की टीम में एक सीएसपी, एक निरीक्षक, एक उपनिरीक्षक, एएसआई और पुलिस जवान शामिल थे।

रात करीब 2.30 बजे विकास दुबे को गुना-शिवपुरी बायपास पर उप्र पुलिस के सुपुर्द किया गया। यहां उप्र का पुलिस बल पहले से मौजूद था। रात में ही कागजी कार्रवाई की गई। सुपुर्दगी के बाद उज्जैन पुलिस लौट आई।

यूपी पुलिस को सौंपने के पहले उतरवा ली थी जैकेट

प्रदेश की सीमा तक छोड़ने गई पुलिस टीम में शामिल एक पुलिसकर्मी ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि दुबे को उप्र पुलिस को सौंपने के बाद उससे बुलेट प्रूफ जैकेट उतरवा ली गई थी। बकौल पुलिसकर्मी- जैकेट मप्र पुलिस की संपत्ति थी।

दुबे को था एनकाउंटर का डर

उज्जैन से उप्र सीमाके बीच विकास दुबे पुलिसकर्मियों से अलग-अलग तरह की बातें करता रहा। कभी वह वारदातों के बारे में बात करता तो कभी अकड़ दिखाता।हालांकि उसे यह मालूम था कि उसके साथी मारे जा चुके हैं। वह रोज अखबार पढ़ता था। महाकाल मंदिर में जब्त हुए बैग में से भी उसके कपड़े के अलावा एक अखबार मिला। उसे भी एनकाउंटर का डर था। उसने तीन बार पुलिसकर्मियों से पूछा कि कहीं मुझे मार तो नहीं देंगे।

मक्सी से ही पीछे लग गए थे मीडियाकर्मी

विकास को जब उज्जैन से कानपुर ले जाया जा रहा था तब मक्सी से ही पुलिस वाहनों के पीछे मीडियाकर्मी लग गए थे। इस दौरान एक पुलिस अफसर ने मीडियाकर्मी की कार की चाबी भी ले ली थी। हालांकि वरिष्ठ अधिकारी तक सूचना पहुंचने के बाद उसने चाबी लौटा दी।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020