उज्जैन (नईदुनिया प्रतिनिधि)। सूदखोर से परेशान होकर पंवासा निवासी एक महिला ने जहरीला पदार्थ खाकर खुदकुशी का प्रयास किया। महिला का कहना है कि उसके पति ने 45 हजार रुपये ब्याज पर लिए थे। जिसके एवज में वह अब तक ढाई लाख रुपये भी दे चुके हैं। उसने पुलिस व सीएम हेल्पलाइन पर शिकायत की थी। मगर कोई कार्रवाई नहीं की गई। पुलिस उस पर ही शिकायत वापस लेने का दबाव बना रही है। पंवासा पुलिस ने बताया कि ताजपुर निवासी अब्दुल हकीब ने कुछ माह पूर्व रामस्वरूप बैरागी से 45 हजार रुपये ब्याज पर लिए थे। जिसके एवज में उसने अपनी जमीन के कागजात गिरवी रखे थे। बैरागी उनसे अब तक ढाई लाख रुपये ले चुका है। बावजूद इसके वह अब भी 45 हजार रुपये मांग रहा है। वहीं उसकी जमीन के कागज भी देने से इंकार कर रहा है। परेशान होकर अब्दुल की पत्नी राशीदा बी ने जहरीला पदार्थ खा लिया। उपचार के लिए उसे जिला अस्पताल में भर्ती करवाया गया है।

गर्भवती महिला की चरक अस्पताल में मौत

उज्जैन (नईदुनिया प्रतिनिधि)। प्रसूति के लिए चरक अस्पताल में भर्ती एक गर्भवती महिला की सोमवार देर रात करीब तीन बजे मौत हो गई। इस पर महिला के स्वजन ने अस्पताल में जमकर हंगामा किया। आरोप है कि डाक्टर व स्वास्थ्यकर्मियों की लापरवाही के कारण महिला व उसके बच्चे की गर्भ में ही मौत हुई है। कोतवाली पुलिस मामले की जांच में जुटी है।

पुलिस ने बताया कि हीरा मिल की चाल निवासी नीलम पत्नी मोनू पंवार को सोमवार शाम चरक अस्पताल में प्रसूति के लिए भर्ती करवाया गया था। जिसकी तबीयत देर रात करीब तीन बजे बिगड़ गई और उसकी मौत हो गई। महिला की मौत के बाद उसके स्वजन आक्रोशित हो गए तथा उन्होंने जमकर हंगामा किया। जानकारी मिलने पर पुलिस भी मौके पर पहुंची थी। स्वजन ने कहा कि लापरवाही बरतने वाले डाक्टर व कर्मचारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए। स्वजन महिला के शव का पीएम करवाना चाहते थे। हालांकि समझाइश के बाद वह पीएम नहीं करवाने पर राजी हुए।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local