उज्जैन (नईदुनिया प्रतिनिधि) केंद्र से स्वीकृत दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस हाईवे से मालवा को जोड़ने के लिए भूमि अधिग्रहण की कार्रवाई तेज हो गई है। देवास से उज्जैन तक फोरलेन मार्ग बनाने को जमीन का अधिग्रहण कर लिया गया है, जबकि उज्जैन से आगर और गरोठ तक फोरलेन मार्ग निर्माण कार्य करने को जमीन अधिग्रहण की कार्रवाई प्रचलन में है। भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएएचआई) के प्रोजेक्ट डायरेक्टर अनिल जैन का कहना है कि निविदा निकाल अगले साल निर्माण शुरू करा दिया जाएगा।

मालूम हो कि भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण दिल्ली से मुंबई की दूरी कम करने को एक्सप्रेस हाईवे बनाना चाहता है। ये हाईवे आठ लेन का होगा, जिसके निर्माण पर 1 लाख करोड़ रुपये खर्च होना है। केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने इसका निर्माण साल 2023 तक पूरा कराने की बात कही है। उन्होंने इस हाईवे के आसपास लॉजिस्टिक पार्क, इंडस्ट्रीयल क्लस्टर तैयार करने का अनुरोध मप्र के मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान से किया है। कहा है कि इससे पिछड़ा हुआ क्षेत्र विकसित होगा और लोगों को रोजगार के अवसर मिलेंगे। हाईवे बन जाने के बाद दिल्ली से मुंबई की दूरी 12 घंटे में पूरी की जा सकेगी। इससे मलवा क्षेत्र जुड़ेगा। इसके लिए 244 किमी लंबी फोरलेन सड़क बनाई जाएगी। इसके निर्माण पर 10 हजार करोड़ रुपये खर्च होंगे। कुछ भूमि का अधिग्रहण हो चुका है, कुछ का जल्द ही पूरा कर लिया जाएगा। एक्सप्रेस-हाईवे रामगंज मंडी से मालवा क्षेत्र के गरोठ, जावरा, रतलाम होकर धांधला, झाबुआ से निकलेगा। मालवा को कनेक्टिविटी देने को 173 किमी लंबा फोरलेन मार्ग इंदौर, देवास, उज्जैन, आगर से गरोठ तक बनाया जाएगा। जानकारों का कहना है कि अधिग्रहित जमीन का पैसा केंद्र सरकार, राज्य को दे चुकी है, अब इसके वितरण में राज्य को तेजी लाना है।

यह भी जानें

न180 किलोमीटर (किमी) लंबा उज्जैन-झालावाड़ रोड, राष्ट्रीय राजमार्ग क्रमांक 552 जी के नाम से जाना जाता है। ये मार्ग उज्जैन से घोसला, घट्टिया, आगर, सुसनेर होकर सोयत में राजस्थान की सीमा को छूता है। मप्र की सरहद में इस सड़क की लंबाई 134 किमी है, जो कई हिस्सों में जर्जर है।

नउज्जैन से सोयत तक का मार्ग अभी साढ़े 5 मीटर चौड़ा है। इस मार्ग के दोनों तरफ सोल्डर भी नहीं बिछाए गए हैं। परिणाम स्वरूप आए दिन यहां वाहन दुर्घटना हो रही है। लोग घायल हो रहे हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस