उज्जैन (नईदुनिया प्रतिनिधि)। Vasant Panchami 2020 धर्मधानी उज्जयिनी में 30 जनवरी को वसंत पंचमी मनाई जाएगी। ज्योतिर्लिंग महाकाल मंदिर में राजाधिराज को वासंती पुष्प के साथ हर्बल गुलाल अर्पित किया जाएगा। सिंधिया देव स्थान ट्रस्ट के प्रसिद्ध गोपाल मंदिर में भगवान गोपालजी को महाराष्ट्रीयन पद्धति से बनाए गए केसरिया भात का भोग लगाया जाएगा। इसके साथ ही 40 दिवसीय फाग उत्सव की शुरुआत होगी। शहर के अन्य श्रीकृष्ण मंदिरों में उत्सव को लेकर तैयारी शुरू हो गई है।

गोपाल मंदिर के पुजारी पं.अर्पित जोशी ने बताया कि मंदिर में सिंधिया स्टेट की परंपरा अनुसार त्योहार मनाए जाते हैं। वसंत पंचमी पर गोपालजी को सुबह केसर के जल से स्नान कराया जाएगा। केसर चंदन से श्रंगार कर केसरिया वस्त्र धारण कराए जाएंगे। भगवान को सरसों के फूलों के साथ इस ऋ तु में आने वाले समस्त प्रकार के फूल अर्पित होंगे।

भोग में महाराष्ट्रीयन पद्धति से लोंग, इलाइची, अदरक, केसर आदि से बनाए गए केसरिया भात का भोग लगाया जाएगा। केसरिया बर्फी, पंचमेवा, केसरिया मोहन भोग विशेष रूप से भोग में शामिल होगा। इस दिन से मंदिर में 40 दिवसीय फाग उत्सव की शुरुआत होगी। मंदिर के सभा मंडप में प्रतिदिन महिलाएं फाग के गीत गाकर फूलों से होली खेलेंगी।

राजभोग आरती में उड़ेगा भक्ति का गुलाल

शहर के पुष्टिमार्गीय वैष्णव मंदिरों में वसंत पंचमी से फाग उत्सव की शुरुआत होगी। 40 दिन तक राजभोग आरती में मुखियाजी ठाकुरजी को अबीर-गुलाल से होली खिलाएंगे। मंदिर में भक्ति का गुलाल उड़ेगा, भक्त भी ठाकुरजी के रंग में रंगे नजर आएंगे।

सांदीपनि आश्रम में विद्या आरंभ संस्कार

भगवान श्रीकृष्ण की शिक्षा स्थली श्री सांदीपनि आश्रम में वसंत पंचमी पर विद्या आरंभ संस्कार होगा। पं. रूपम व्यास ने बताया इस दिन ज्ञान की देवी माता सरस्वती के पूजन का दिन है। भगवान श्रीकृष्ण ने यहां शिक्षा ग्रहण की थी, इसलिए गोमती कुंड के तट पर बच्चों का पाटी पूजन कराकर विद्या आरंभ संस्कार कराया जाता है।

मान्यता है इससे बालक मेधावी होता है। प्रतिवर्ष बड़ी संख्या में लोग अपने बच्चों को लेकर पाटी पूजन कराने आते हैं। सुबह भगवान श्रीकृष्ण को हल्दी मिश्रित केसरिया जल से स्नान कराया जाएगा। पीतांबर वस्त्र ध्ाारण कराकर सरसों के पीले फूलों से श्रंगार कर पूजा अर्चना की जाएगी। भगवान को केसरिया पकवानों का भोग लगेगा।

Posted By: Hemant Upadhyay

fantasy cricket
fantasy cricket