Live Vikas Dubey Arrested : उज्जैन। (नईदुनिया प्रतिनिधि)। गैंगस्टर विकास दुबे को यूपी एटीएस को सौंप दिया गया है।

शहर में वकीलों के विरोध प्रदर्शन के चलते विकास की वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए पेशी की गई। वहां से उसे इंदौर और फ‍िर चार्टर्ड प्‍लेन से उत्‍तर प्रदेश ले जाया जाएगा। विकास दुबे को ले जाने के लिए उत्तर प्रदेश STF की एक टीम DSP के नेतृत्व में उज्जैन पहुंची। DIG मनीष कपूरिया ने पुष्टि की। उन्होंने बताया कि ट्रांजिट रिमांड की प्रक्रिया के बाद उसे सौंपा गया।

इससे पहले विकास की गिरफ्तारी के बाद यूपी एसटीएफ विशेष विमान से इंदौर और उज्जैन पहुंची। उज्जैन में पेशी के बाद विकास को विमान से ही उत्तर प्रदेश ले जाया जाएगा। उत्तर प्रदेश के दो वकीलों की भी गिरफ्तारी हुई है, जो विकास को कार से लेकर उज्जैन आए थे, विकास रात में उज्जैन की एक होटल में रुका था।

सीआरपीसी की धारा 72 के अनुसार अगर किसी दूसरे प्रदेश की पुलिस किसी किसी आरोपित को गिरफ्तार करती है तो उसे स्थानीय अदालत में 24 घंटे अंदर पेश करना होता है। स्थानीय अदालत से प्रत्यर्पण की अनुमति लेकर ही दूसरे प्रदेश की पुलिस उसे अपने क्षेत्र में ले जाती है। इस अनुमति को ही ट्रांजिट रिमांड कहते हैं।

उज्जैन कोर्ट में वकीलों का प्रदर्शन, दुबे को कड़ी सजा दिलाने की मांग

इससे पहले शहर के वकीलों ने कोर्ट में प्रदर्शन किया है। वकीलों की मांग है कि दुबे को कड़ी से कड़ी सजा मिले।

महाकाल मंदिर में बम स्क्वॉड ने की जांच

गैंगस्टर विकास दुबे की गिरफ्तारी के बाद पुलिस ने महाकाल मंदिर में जांच की। दुबे मंदिर में जहां-जहां गया वहां बम स्क्वॉड भेजा गया। दर्शन करने से पहले दुबे ने अपना बैग फैसिलिटी सेंटर स्थित लॉकर रूम में रखा था। पुलिस ने इसे जब्त कर लिया है।

उत्तर प्रदेश का कुख्यात गैंगस्टर और आठ पुलिसकर्मियों की हत्या का आरोपित विकास दुबे गुरुवार सुबह उज्जैन में पकड़ा गया। दुबे महाकाल मंदिर में दर्शन करने पहुंचा था। फैसिलिटी सेंटर पर अपना बैग रखने के बाद यहां उसने शीघ्र दर्शन के लिए 250 रुपए की रसीद कटवाई। प्रारंभिक जानकारी के अनुसार मंदिर में एक सिक्युरिटी गार्ड को शंका होने पर उसे पुलिस चौकी लेकर आए थे। यहां पूछताछ शुरू होते ही उसने कहा- हां मैं विकास दुबे हूं। पुलिस अधिकारी अभी इस मामले में ज्यादा जानकारी नहीं दे रहे। आइजी राकेश गुप्ता, एसपी मनोज सिंह सहित कुछ अन्य अफसर उससे लगातार पूछताछ कर रहे हैं। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने विकास दुबे की उज्जैन से गिरफ्तारी के मामले पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से फोन पर चर्चा की है।

महाकाल मंदिर में गुरुवार सुबह 7.45 बजे दुबे की गिरफ्तारी हुई। वह करीब 7 बजे ही मंदिर परिसर में पहुंच चुका था। इन दिनों महाकाल दर्शन के लिए एक दिन पूर्व अग्रिम बुकिंग कराना होती है। मगर हालही में प्रशासन द्वारा 250 रुपए की रसीद से दर्शनार्थियों को सीधे प्रवेश दिया जा रहा है। दुबे ने यही रसीद कटवाई। यहां उसने अपना सही नाम नहीं बताया। दुबे दर्शन कर लौट रहा था। इसी दौरान एक सुरक्षाकर्मी को शक हुआ। इस पर दुबे को मंदिर परिसर स्थित महाकाल चौकी में लाया गया। यहां पूछताछ शुरू होते ही दुबे ने अपनी पहचान बता दी। इसके बाद पुलिस के आला अधिकारियों को सूचना दी गई। एसपी मनोज सिंह खुद उसे गिरफ्तार कर कंट्रोल रूम ले गए।

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने विकास दुबे की गिरफ्तारी पर किया ट्वीट

मध्य प्रदेश पुलिस, विकास दुबे को यूपी पुलिस को हैंड ओवर करेगी।सीएम शिवराज ने विकास दुबे की गिरफ्तारी पर ट्वीट कर उज्जैन पुलिस को बधाई दी। उन्होंने एक और ट्वीट में लिखा कि जिनको लगता है की महाकाल की शरण में जाने से उनके पाप धुल जाएंगे उन्होंने महाकाल को जाना ही नहीं। हमारी सरकार किसी भी अपराधी को बख्शने वाली नहीं है…।

गृहमंत्री ने कहा- इंटेलिजेंस से सूचना मिली थी

गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा का बयान मध्यप्रदेश पुलिस को इंटेलिजेंस से कुख्यात अपराधी विकास दुबे के उज्जैन आने की सूचना मिली थी। इसी आधार पर महाकाल थाना पुलिस ने विकास की गिरफ्तारी की है।

भोपाल से उज्जैन आ सकते हैं बड़े पुलिस अधिकारी

भोपाल से बड़े पुलिस अधिकारी उज्जैन आ सकते हैं, इसी के साथ उत्तर प्रदेश पुलिस भी यहां आ रही है। ऐसे में उसे न्यायालय में पेश कर यूपी पुलिस उसकी रिमांड मांगेगी।

साबरमती एक्सप्रेस से आया

पुलिस सूत्रों के अनुसार पूछताछ के दौरान दुबे कई कहानियां गढ़ रहा है। यह भी जानकारी लगी है कि वह उज्जैन गुरुवार सुबह साबरमती एक्सप्रेस से पहुंचा था। यह ट्रेन 5.45 पर उज्जैन आई थी। हालांकि पुलिस अधिकारी दुबे को लेकर कोई भी जानकारी देने से बच रहे हैं।

लखनऊ के दो वकील भी पुलिस हिरासत में, फिलहाल पूछताछ

विकास दुबे की गिरफ्तार के कुछ ही देर बाद पुलिस ने उज्जैन आए लखनऊ के दो वकीलों को भी पूछताछ के लिए हिरासत में लिया है। यह निजी गाड़ी से उज्जैन आए थे। वकीलों को दुबे से कनेक्शन है या नहीं, पुलिस इसकी पुष्टि कर रही है।

महाकाल मंदिर में चप्पे-चप्पे पर कैमरे, कई सवाल उठे

दुबे की इस तरह गिरफ्तारी से कई तरह के सवाल खड़े हुए हैं। दरअसल महाकाल मंदिर परिसर में चप्पे-चप्पे पर कैमरे लगे हुए हैं। विकास दुबे का इस तरह आराम से मंदिर में पहुंचना और फिर गिरफ्तार होने से कई तरह की चर्चाएं हैं।

मध्य प्रदेश से कनेक्शन

विकास दुबे के मध्य प्रदेश के शहडोल और ग्वालियर-चंबल अंचल के साथ कनेक्शन सामने आए थे। यूपी पुलिस इस मामले में जांच करने यहां पहुंची भी थी, लेकिन किसी को यह यकीन नहीं था कि वो उज्जैन में मिलेगा।

लखनऊ की गाड़ी से महाकाल मंदिर पहुंचा विकास

जानकारी के मुताबिक विकास दुबे लखनऊ की कार यूपी 32 केएस 1104 में उज्जैन के महाकाल मंदिर में दर्शन करने पहुंचा था। यह कार मनोज यादव के नाम पर रजिस्टर्ड है।

पूर्व सीएम कमल नाथ ने की उच्चस्तरीय जांच की मांग

पूर्व सीएम कमल नाथ ने ट्वीट कर लिखा, यूपी के कानपुर के कुख्यात गैंगस्टर, 8 पुलिसकर्मियों की हत्या के आरोपी विकास दुबे के उज्जैन में महाकाल मंदिर में खुद को सरेंडर करने की घटना की उच्चस्तरीय जांच होना चाहिए। इसमें किसी बड़ी सियासी साजिश की बू आ रही है। इतने बड़े इनामी अपराधी के जिसको पुलिस रात- दिन खोज रही है, उसका कानपुर से सुरक्षित मध्य प्रदेश के उज्जैन तक आना और महाकाल मंदिर में प्रवेश करना और चिल्ला- चिल्लाकर खुद को गिरफ्तार करवाना, कई संदेह को जन्म दे रहा है, किसी संरक्षण की ओर इशारा कर रहा है। इसकी जांच होना चाहिए। उन्होंने लिखा है कि हमने हमारी सरकार में माफियाओं के खिलाफ सतत बड़ा अभियान चलाया, जिसके कारण माफिया प्रदेश छोड़कर चले गए और अब भाजपा सरकार आते ही माफिया वापस प्रदेश लौटने लगे है। मध्यप्रदेश माफियाओं की सुरक्षित शरणस्थली बनता जा रहा है।

Posted By: Prashant Pandey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020