उज्जैन Vikas Dubey Encounter । कुख्यात गैंगस्टर विकास दुबे पर रखा गया पांच लाख रुपये का इनाम किसे और कब मिलेगा, इसे लेकर कई तरह की चर्चाएं हैं। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि अभी दुबे के उज्जैन कनेक्शन को लेकर कई बिंदुओं पर जांच की जा रही है। जांच के बाद इनाम पर दावे की प्रक्रिया करेंगे। हालांकि पुलिस ने अभी तक यह माना है कि दुबे को सबसे पहले महाकाल मंदिर के बाहर हार-फूल की दुकान लगाने वाले सुरेश माली ने पहचाना था। इसके बाद सुरक्षाकर्मियों को सूचना दी थी।

बता दें कि 9 जुलाई को विकास दुबे ज्योतिर्लिंग महाकाल मंदिर से पकड़ा गया था। पुलिस के अनुसार दुबे ने दुकानदार सुरेश माली से दर्शन व्यवस्था के बारे में पूछा था। इस दौरान उसने मास्क नीचे किया हुआ था। माली न्यूज चैनल देखता रहता है। दुबे को देखकर उसे शंका हुई।

इस पर उसने मंदिर के दो सुरक्षाकर्मियों को इस बारे में बताया था। बाद में दुबे को हिरासत में लेकर पूछताछ की गई और फिर भी पुष्टि होने पर गिरफ्तार कर लिया गया। अभी जांच जारी है उज्जैन एसपी मनोज सिंह ने बताया कि दुबे के उज्जैन कनेक्शन को लेकर पड़ताल जारी है।

कई बिंदुओं पर जांच कर रहे हैं। जांच पूरी होने के बाद इनाम की प्रक्रिया शुरू करेंगे।बैग में थे कपड़े, सैनिटाइजर और अखबार महाकाल दर्शन के लिए जाने से पहले विजय दुबे ने शंख द्वार के सामने जूता स्टैंड पर अपनी चप्पल उतारी थी। इसके बाद वह अपना बैग लेकर आगे बढ़ा।

गेट पर तैनात सुरक्षाकर्मी ने उसे बैग बाहर रखकर आने के लिए कहा। इस पर वह फिर से जूता स्टैंड पर गया और बैग रखने के लिए कहा। स्टैंड पर तैनात कर्मचारी ने पहले उसके बैग की तलाश ली। बैग में कपड़े, सैनिटाइजर की एक बोतल और एक अखबार मिला था। बैग रखने के बाद दुबे मंदिर में दर्शन के लिए चला गया। गिरफ्तारी के दो घंटे के बाद पुलिस ने बैग जब्त कर लिया। फिर महाकाल मंदिर परिसर में बम स्कवॉड ने भी जांच की थी।

मैं विकास दुबे हूं...सुनते ही पुलिस ने हाथ से हटवा दिया था कलावा

गैंगस्टर विकास दुबे को गिरफ्तार करने के बाद पुलिस ने उसके हाथ में बंधा कलावा हटवा दिया था। पुलिस किसी भी मुलजिम की गिरफ्तारी के बाद उसके शरीर से इस तरह की चीजें हटवा देती है। विकास के साथ भी ऐसा ही हुआ। शनिवार को विकास से जुड़ी दो फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हो रही थीं। एक फोटो में विकास के हाथ में कलावा था तो दूसरे में नहीं।

इस पर पुलिस अधिकारियों ने कहा कि पूछताछ के दौरान जैसे ही विकास दुबे ने अपनी सही पहचान बताई, वैसे ही उसे गिरफ्तार कर लिया। इसके बाद उसके हाथ से कलावा हटवा दिया गया। एएसपी रूपेश द्विवेदी ने बताया कि किसी भी आरोपित को गिरफ्तार कर थाने लाने के बाद कलावा, ताबीज, चेन, लॉकेट, फीते वाले जूते आदि हटा दिए जाते हैं।

Posted By: Sandeep Chourey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Ram Mandir Bhumi Pujan
Ram Mandir Bhumi Pujan