Vikram Univercity Ujjain: उज्जैन (नईदुनिया प्रतिनिधि)। विक्रम विश्वविद्यालय ने अपने परिसर में जनसहयोग से नेचुरल आक्सीजन इंडस्ट्री स्थापित करने की योजना बनाई है। कुलपति अखिलेशकुमार पांडेय ने नईदुनिया से कहा है कि कोराना त्रासदी ने हम सबको आक्सीजन का महत्व समझा दिया है। अब शहर के हर जोन-वार्ड में नेचुरल आक्सीजन इंडस्ट्री स्थापित करने की जरूरत है।

विक्रम विश्वविद्यालय इसकी पहल करना चाहता है। विवि परिसर में मार्निंग और इवनिंग वाक करने वालों से अपील है कि वे परिसर में आक्सीजन उत्सर्जित करने वाले अधिक से अधिक पौधे लगाए, उनका संरक्षण-संवर्धन करे, मगर विश्वविद्यालय से अनुमति लेकर। विवि पौधारोपण के लिए पर्यावरणप्रेमियों को उचित जगह उपलब्ध कराएगा। ऐसी जगह, जो न प्रस्तावित निर्माण कार्यों में बाधा बनेगी और ना मौजूद निर्माण उससे प्रभावित होंगे। देखने में आया है कि कुछ लोगों ने बगैर सोचे-समझे ऐसी जगह बड़-पीपल के पौधे रोप दिए हैं, जिनसे विवि के भवन और बाउंड्रीवाल को खतरा है।

विवि में रोज 2-3 हजार लोग घूमने आते हैं

विक्रम विवि कैम्पस में रोज 2 से 3 हजार लोग सुबह और शाम की सैर करने आते हैं। उनका कहना है कि विवि कैम्पस में हरियाली अच्छी होने से सांस लेने में अच्छा महसूस होता है। विवि परिसर को योजना बनाकर और भी सुंदर और व्यवस्थित बनाया जा सकता है। यहां एक फलों का और एक फूलों का बगीचा भी बनाया जाना चाहिए। सम्राट विक्रमादित्य के नवरत्न धन्वंतरि, क्षपणक, अमरसिंह, शंकु, घटकर्पर, कालिदास, वेतालभट्ट, वररुचि और वराह मिहिर के नाम पर पर्यावरण क्षेत्र बनाना चाहिए।

नानाखेड़ा स्टेडियम में सिंथेटिक ट्रैक का भूमिपूजन टला

नानाखेड़ा स्थित राजमाता सिंधिया स्टेडियम में 7 करोड़ रुपए से सिंथेटिक ट्रैक बनाए जाने को मंगलवार शाम रखा भूमिपूजन का कार्यक्रम टल गया। वजह, खेल मंत्री यशोधराराजे सिंधिया की अनुपस्थिति रही। बताया कि शिवपुरी में बाड़ जैसे हालात होने पर मुख्यमंत्री ने खेल मंत्री को शिवपुरी भेज दिया। ऐसे में उनका भूमिपूजन कार्यक्रम में वर्चुअली जुड़ना संभव नहीं था। भूमिपूजन खेल मंत्री के मुख्य आतिथ्य में होना तय हुआ था।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local