Vikram University Ujjain: उज्जैन (नईदुनिया प्रतिनिधि)। विक्रम विश्वविद्यालय के स्कूल आफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलाजी (एसओइटी) संस्थान में दो वर्षीय एमटेक पाठ्यक्रम की सभी 72 सीटें फूल हो गई हैं। चारों ब्रांच सिविल, मैकेनिकल, इलेक्ट्रिकल और डिजिटल इलेक्ट्रिानिक्स की 18-18 सीटों पर विद्यार्थियों ने प्रवेश सुनिश्चित कर लिया है। इनकी नियमित कक्षाएं 1 अक्टूबर से लगना प्रारंभ हो जाएंगी। अच्छी खबर यह है कि बीटेक की पांच ब्रांच में स्वीकृत 270 सीटों को भरने की प्रक्रिया शुरू हो गई है। कुछ विद्यार्थियों ने आवेदन भी किया है। हालांकि जानकारों का कहना है कि इस साल भी आधी सीटें खाली रह जाएंगीं। क्योंकि इस साल भी इंजीनियरिंग की पढ़ाई अतिथि विद्वानों के भरोसे ही होगी। स्थायी प्रोफेसरों की नियुक्ति इस साल भी नहीं हो पाई है। गत वर्ष भी आधी से ज्यादा सीटें खाली रह गई थीं।

मालूम हो कि एसओइटी की स्थापना बेचलर आफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलाजी (बीटेक) पाठ्यक्रम के साथ साल-2011 में हुई थी। शुरुआती साल में यहां स्वीकृत सभी सीटें फूल हुई, मगर वक्त के साथ जब पढ़ाने को स्थायी शिक्षक नहीं मिले, फीस बढ़ी और कैम्पस प्लेसमेंट की सुविधा नहीं मिली तो साल दर साल एडमिशन की संख्या घटती चली गई। गत वर्ष स्वीकृत 220 सीटों के विरुद्ध सिर्फ 111 विद्यार्थियों ने प्रवेश पाया था। अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (एआइसीटीइ) से मान्यता मिलने पर विश्वविद्यालय ने इस साल बीटेक में नई, इलेक्ट्रानिक्स एंड कम्युनिकेशन ब्रांच शुरू की है। इससे ब्रांच की संख्या यहां अब पांच हो गई है। इसके पहले सिविल, मैकेनिकल, इलेक्ट्रिकल, इलेक्ट्रिानिक्स कोर्स संचालित होता था। सभी ब्रांच में 54-54 सीटें स्वीकृत हैं। एडमिशन के लिए सालाना फीस 29,291 रुपये है।

जेईई मेन-2021 की मेरिट के आधार पर सामान्य पूल एवं टीएफडब्ल्यू सीटों के लिए प्रवेश की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। आनलाइन पंजीयन में सुधार के लिए आखिरी तारीख 28 सितंबर है। कामन मेरिट सूची 29 सितंबर को सार्वजनिक कर दी जाएगी। 8से 10 अक्टूबर के बीच मूल दस्तावेजों के सत्यापन एवं प्रवेश की प्रक्रिया हो जाएगी। इसी बीच जेईई मेन के आधार पर आवंटन उपरांत रिक्त रह गई सीटों को 12वीं परीक्षा के अंकों के आधार पर भरने के लिए प्रवेश प्रक्रिया 30 सितंबर से शुरू होगी। 11 अक्टूबर तक रजिस्ट्रेशन कराए जा सकेंगे। इसकी कामन मेरिट लिस्ट 14 अक्टूबर को जारी की जाएगी। आवंटन पत्रों की आनलाइन उपलब्धता एवं प्रवेश की प्रक्रिया 19 अक्टूबर तक की जा सकेगी।

126 शिक्षकों के पद, अभी सिर्फ 22 नियुक्त...वो भी अतिथि

विक्रम विश्वविद्यालय ने एसओइटी में पढ़ाने के लिए 126 शिक्षकों के पदों की स्वीकृत तकनीकी शिक्षा संचालनायल से चाही है। इस सिलसिले में पत्र भेजा गया है। हालांकि अब तक स्वीकृति नहीं मिली है। खास बात यह है कि अभी पढ़ाने के लिए एसओइटी में सिर्फ 22 शिक्षक नियुक्त है। इससे आप अंदाजा लगा सकते हैं कि इस साल भी कैसी पढ़ाई होगी। जानकारों का कहना है कि जब तक जवाबदारी तय नहीं होती, परिणाम बेहतर नहीं आते। स्थायी शिक्षकों को हमेंशा विभागीय और वैधानिक कार्रवाई की तलवार लटकी रहती है, इसलिए परिणाम भी बेहतर आता है।

निदेशक का कहना- अतिथि विद्वान भी रखते पढ़ाने की अर्हता

पूरे मामले में निदेशक डा. गणपत सिंह अरिवार ने नईदुनिया से कहा है कि सभी अतिथि विद्वान नेट क्वालिफाइ हैं और पढ़ाने की अर्हता रखते हैं। शिक्षकों की कमी न आए, इसलिए अन्य संस्थान के 22 शिक्षकों का एक पैनल बनाया है। इसमें विक्रम विश्वविद्यालय के विभिन्ना विभागों के प्रोफेसर, शासकीय इंजीनियरिंंग कालेज और अन्य तकनीकी संस्थान के विषय विशेषज्ञ शामिल हैं। ये विजिटिंग टीचर के रूप में विद्यार्थियों की सप्ताह या महीने में दो दिन विशेष क्लास लेंगे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local