उज्जैन। शहर कांग्रेस की आंतरिक कलह को लेकर प्रभारी मंत्री सज्जनसिंह वर्मा भी खासे नाराज हैं। इसका एक उदाहरण शनिवार को उस समय सामने आया जब महाकाल मंदिर के पुरोहितों से जुड़ी समस्या को लेकर कुछ पुजारी उनसे मिलने पहुंचे। प्रभारी मंत्री ने पार्टी के ही विरोधियों को इशारों में ही दो टूक संदेश दे दिया कि महाकाल मंदिर की व्यवस्था में फेल करने वालों को ठीक कर दूंगा। उन्होंने कहा मेरा नाम सज्जन है लेकिन सिंह भी साथ में लगा है। प्रभारी मंत्री ने पुरोहितों को लेकर आए कार्यकर्ता से कहा यह मुद्दा पहले मेरे सामने नहीं आया। गौरतलब है कि कुछ समय पूर्व इस मामले में शहर कांग्रेस कार्यालय पर हुई बैठक खासी चर्चा का विषय बन चुकी है। प्रभारी मंत्री के गुस्से को इसी से जोड़कर देखा जा रहा है। पार्टी कार्यकर्ताओं द्वारा माना जा रहा है कि प्रभारी मंत्री ने शहर कांग्रेस अध्यक्ष की कार्यशैली पर अपनी नाराजगी इशारों में जताई।