Ujjain GRP News: उज्जैन (नईदुनिया प्रतिनिधि)। रेलवे स्टेशन पर प्लेटफार्म नंबर चार पर शनिवार सुबह करीब सवा छह बजे एक महिला अपने दो बच्चों के साथ नागपुर जाने वाली ट्रेन में गलती से चढ़ गई। महिला को इसकी जानकारी लगी तो चलती ट्रेन से पहले उसने अपने दो बच्चों को उतारा और फिर खुद कूद गई। इस दौरान वह ट्रेन के नीचे जाने लगी तो प्लेटफार्म पर मौजूद जीआरपी आरक्षक ने महिला व उसके दोनों बच्चों को बचा लिया। पूरा घटनाक्रम सीसीटीवी कैमरे में दर्ज हो गया।

जीआरपी टीआइ आरएल महाजन ने बताया कि शनिवार सुबह जीआरपी थाने में पदस्थ आरक्षक महेश कुशवाह डयूटी पर था। सुबह करीब साढ़े छह बजे प्लेटफार्म नंबर चार पर जयपुर-नागपुर एक्सप्रेस चल दी थी। चलती ट्रेन से एक महिला ने अपने करीब आठ साल के बेटे को बाहर उतारा फिर करीब छह साल के बेटे को उतारा तथा वह खुद भी कूद गई। ट्रेन की स्पीड अधिक होने के कारण उसका संतुलन बिगड़ा और वह ट्रेन के नीचे जाने लगी थी। जिस पर आरक्षक महेश ने पहले दोनों बच्चों तथा बाद में महिला को बचा लिया। महिला ने पूछताछ में बताया कि उसे जयपुर-भोपाल एक्सप्रेस से सीहोर जाना था। उसके पति टिकट लेने के लिए गए थे। उसी दौरान महिला के पति भी वहां आ गए। महिला बुरी तरह घबरा गई थी। इस पर आरक्षक ने पहले उसे पानी पिलाया और फिर उनकी ट्रेन के बारे में बताया कि वह प्लेटफार्म नंबर एक पर आने वाली है। पहले जयपुर-भोपाल एक्सप्रेस चार नंबर प्लेटफार्म पर आती थी। मगर करीब दो साल से उसका प्लेटफार्म एक नंबर पर कर दिया गया है। इस पर महिला अपने बच्चों व पति के साथ प्लेटफार्म नंबर एक पर पहुंची और वहां से अपनी ट्रेन में बैठकर सीहोर रवाना हो गई। महिला काफी घबराई हुई थी, इस कारण आरक्षक ने उसका नाम-पता नहीं पूछा, हालांकि महिला उज्जैन की ही रहने वाली है।

------

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local