बदलाव : हरसिद्घि भक्त मंडल होगी सहयोगी संस्था, मंदिर समिति अलग से बजट स्वीकृत करेगी

उज्जैन। शक्तिपीठ हरसिद्घि मंदिर में अब नवरात्र महोत्सव का आयोजन मंदिर समिति करेगी। बीते 45 साल से आयोजन का जिम्मा संभाल रही संस्था हरसिद्घि भक्त मंडल सहयोगी की भूमिका में रहेगी। आयोजन के लिए मंदिर समिति अलग से बजट स्वीकृत करेगी। मंदिर में दान एकत्र करने के लिए भी सिर्फ एक काउंटर होगा।

देश के 52 शक्तिपीठों में से एक माता हरसिद्घि के दरबार में श्री हरसिद्घि भक्त मंडल द्वारा बीते करीब 45 वर्षों से नवरात्र महोत्सव का आयोजन किया जाता है। आयोजन के लिए जन सहयोग से राशि जुटाई जाती है। मंदिर प्रांगण में भी संस्था दान का काउंटर लगाती है। बीते दो तीन वर्षों से शासकीय मंदिर में सार्वजनिक संस्था के चंदा इकट्ठा करने पर सवाल खड़े होने लगे थे। बीते वर्ष तत्कालीन कलेक्टर ने संस्था के पदाधिकारियों को मंदिर समिति के साथ मिलकर आयोजन करने की हिदायत दी थी। हालांकि इस बात को एक वर्ष बीत गया। इस साल भी संस्था के पदाधिकारियों ने बिना मंदिर समिति को विश्वास में लिए कार्यक्रम की शुरुआत कर दी। चंदा एकत्र करने के लिए मंदिर परिसर में दान का काउंटर भी खोल दिया। मामले की शिकायत कलेक्टर के पास पहुंची। इस पर जिलाधीश ने मंदिर प्रबंध समिति के साथ मिलकर आयोजन करने के निर्देश दिए। इसके बाद संस्था ने मंगलवार को मंदिर प्रबंध समिति व हरसिद्घि भक्त मंडल का संयुक्त आयोजन होने की घोषणा की। वर्ष 2020 में आयोजन का स्वरूप में बदलाव होगा। हरसिद्घि मंदिर प्रबंध समिति आयोजनकर्ता होगी तथा भक्त मंडल सहयोगी संस्था के रूप में काम करेगा।

..........

वर्जन...

अगले वर्ष से नवरात्र महोत्सव का आयोजन मंदिर प्रबंध समिति करेगी। हरसिद्घि भक्त मंडल सहयोगी संस्था होगी। मंदिर में एक ही दान काउंटर लगेगा। मंदिर समिति कार्यक्रम के लिए अलग से बजट स्वीकृत करेगी।

- अवधेश जोशी, प्रबंधक हरसिद्घि मंदिर

.............

भक्त मंडल बीते 45 सालों से आयोजन करता आ रहा है। अगर समिति कार्यक्रम आयोजित कर परंपरा का निर्वहन करना चाहती है, तो हम सहयोग के लिए तैयार हैं।

-कमलेश तांबी, वरिष्ठ सदस्य हरसिद्घि भक्त मंडल

Posted By: Nai Dunia News Network