संजय कुमार शर्मा, उमरिया। बांधवगढ़ के अजेय किले में स्थित भगवान राम-जानकी का मंदिर साल में सिर्फ एक दिन श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर खोला जाता था। लेकिर इस वर्ष मंदिर में न तो मेला लगेगा और न ही मंदिर खोला जाएगा। बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व प्रबंधन ने किले के आसपास जंगली हाथियों का खतरा बताकर मेला निरस्त कर दिया है। हालांकि, अभी तक बाघों की दहाड़ के बीच भी जन्माष्टमी पर यहां विशाल मेला लगता रहा है, लेकिन अब ये सदियों पुरानी परंपरा टूटेगी और श्रद्धालुओं के साथ ही पुजारियों को भी यहां प्रवेश नहीं मिलेगा।

बांधवगढ़ रीवा रियासत की एक राजधानी था। बांधवगढ़ की जन्माष्टमी सदियों पुरानी है। बघेल शासकों की शिकारगाह रहा बांधवगढ़ का जंगल जब 1971में टाइगर रिजर्व बनाने के लिए सौंपा गया, तब महाराजा मार्तंड सिंह ने सरकार के सामने शर्त रखी थी कि किले में लगने वाले मेले की परंपरा को खत्म नहीं किया जाएगा और श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर श्रद्धालुओं को यहां आने से नहीं रोका जाएगा। यही कारण है कि हर साल एक दिन के लिए यहां वन्यजीव एक्ट भी शिथिल हो जाता है।

किले के अंदर है मंदिर :

ताला गांव से लगभग 15 किमी दूर पहाड़ी पर बने बांधवगढ़ किले में भगवान राम, माता सीता और लक्ष्मण विराजमान हैं। मंदिर की स्थापना रीवा रियासत के समय कराई गई थी।

15 किमी पैदल चलते थे श्रद्धालु :

बाघों के साम्राज्य में बंशी वाले का मेला जब लगता था तो हजारों श्रद्धालु 15 किलोमीटर से ज्यादा पैदल चलकर मंदिर तक पहुंचते थे। मंदिर में भगवान राम-जानकी की एक झलक पाने से उनकी सारी थकावट दूर हो जाती थे। श्रद्धालुओं की सुरक्षा के लिए पार्क के कर्मचारियों, जिप्सी दल और हाथियों को भी लगाया जाता था।

भगवान राम ने उपहार में दिया था किला :

बांधवगढ़ का ऐतिहासिक किला बाघों की घनी आबादी के लिए मशहूर है। मान्यता है कि भगवान राम ने वनवास से लौटने के बाद अपने भाई लक्ष्मण को ये किला उपहार में दिया था। इसीलिए इसका नाम बांधवगढ़ यानी भाई का किला रखा गया। जानकारों की मानें तो इस किले का वर्णन स्कंध पुराण और शिव संहिता में मिलता है।

युवराज ने दिया धरना :

रीवा राजघराने के युवराज हर साल यहां पूजन करने के लिए आते थे। मेला निरस्त किए जाने के विरोध में गुरुवार को रीवा के सिरमौर से भाजपा विधायक युवराज दिव्यराज सिंह धरने पर बैठ गए।

Posted By: Mukesh Vishwakarma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close