संजय कुमार शर्मा, उमरिया

बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व में बारिश समाप्त होते ही घास के मैदानों को सुधारने का काम शुरू होगा। घास के मैदानों को बेहतर स्वरूप देने के लिए बारिश के दौरान उग आई झाड़ियों को हटाया जाएगा और घास के मैदानों को इस काबिल बनाया जाएगा जहां शाकाहारी जानवर खुलकर विचरण कर सके। बारिश के दौरान घास के मैदान पूरी तरह से बिगड़ गए हैं जिसमें सुधार की जरूरत महसूस की जा रही है। घास के मैदान बिगड़ने के कारण एक स्थान से दूसरे स्थान की तरफ शाकाहारी जानवर पलायन कर रहे हैं।

तैयार होगी मुलायम घास

चीतल, सांभर और हिरण मुलायम घास के मैदान में ही रहना पसन्द करते हैं। उन्हें वह घास ज्यादा पसंद होती है जो उनके पैरों तक हो। जिस घास में उनका पूरा शरीर छिप जाता है घास के उस मैदान में जाने से खासतौर से हिरण परहेज करते हैं। जबकि इन दिनों जंगल के अंदर जितने भी घास के मैदान हैं वहां सभी जगह घास काफी ऊंची हो गई है। साथ ही कंटीली और खुजली पैदा करने वाली झाड़ियां भी जंगल में तैयार हो गई है। इससे जंगल के शाकाहारी वन्य प्राणियों को खासी परेशानी होती है।

घास की तलाश में जानवर

वन्य प्राणी प्रेमी नरेन्द्र बगड़िया का कहना है कि शाकाहारी जानवर हमेशा मुलायम घास की तलाश में रहते हैं। यही कारण है कि बारिश के दौरान शाकाहारी जानवर कटीली झाड़ियों से परेशान हो जाते हैं और जंगल से लगे गांवों के आसपास सक्रिय हो जाते हैं। जंगल से लगे गांवों में बारिश के दौरान तैयार होने वाली फसल इन्हें यहां तक खींच लाती है। यह स्थिति जंगल और जानवर दोनों के लिए खतरनाक मानी जा रही है। शाकाहारी जानवरों के बाहर की तरफ जाने से बाघ भी उनके पीछे जंगल से बाहर आ जाते हैं और जंगल के किनारों पर सक्रिय हो जाते हैं।

अब होगा यह काम

बारिश के बाद जंगल में चारा कटर श्रमिकों को तैनात किया जाएगा जो घास के मैदानों को जंगली शाकाहारी जानवरों के अनुसार तैयार करेंगे। यह श्रमिक उन घासों और झाड़ियों को मैदानों से अलग करेंगे जिससे शाकाहारी जानवरों को परहेज होता है। साथ ही उन घासों को अनुकूल स्थिति में लाया जाएगा जिसे जंगल के शाकाहारी जानवर पसंद करते हैं। इस काम के लिए जंगल में तीन सौ से ज्यादा चारा कटर श्रमिकों को काम मिलेगा।

इनका कहना है

घास के अच्छे मैदान ही टाइगर रिजर्व में बाघों का संरक्षण करते हैं। इसके लिए लगातार प्रयास किया जा राह है और आगे भी निरंतर काम करने की योजना है।

डा बीएस अन्नागिरी

फील्ड डायरेक्टर बीटीआर

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close