उमरिया/बिरसिंहपुर पाली।

तहसील क्षेत्र पाली और उससे लगे आसपास के जगलों से रेत निकासी पर अब तक कोई अंकुश नहीं लग पाया है। खनिज माफिया न्यायालय के निर्देशों को खुलेआम चुनौती दे रहे हैं। वन भूमि से रात के समय न केवल भारी तादात में रेत की अवैध निकासी की जारही है बल्कि हरे-भरे जंगलों का भी कत्लेआम किया जा रहा है। हर निर्माण कार्य में बजरी, मुरूम रेत और इमारती लकड़ियों की जरूरत पड़ती है। ऐसे में पाली, घुनघुटी और मानपुर क्षेत्र के जंगलों में माफिया की नजर लग गई है। ये गिरोह जंगलों से भारी तादाद में खनिज के उत्खनन के साथ बेशकीमती लकड़ियों की भी कटाई कर रहे हैं। आसपास के जंगलों में भारी वाहनों के पहियों के निशान आसानी से देखे जा सकते हैं। यहां चौबीसों घण्टे अवैध उत्खनन चलता रहता है, जिस पर रोक लगाने कोई पहल नहीं की जा रही है।

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Ram Mandir Bhumi Pujan
Ram Mandir Bhumi Pujan