उमरिया, नईदुनिया प्रतिनिधि। जंगल और वन्य प्राणियों से प्रेम करने वालों के लिए अच्छी खबर है कि बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व के कोर जोन में खितौली रेंज के अंतर्गत बसा गांव गढ़पुरी अब जल्द ही खाली हो जाएगा। बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व के खितौली रेंज में बसा गांव गढ़पुरी के खाली होने का रास्ता अब साफ हो गया है। इस गांव के 318 परिवारों ने गांव खाली करने के लिए अपना आवेदन वन विभाग को सौंप दिया है। इतना ही नहीं इस मामले में वन विभाग ने जिला प्रशासन के साथ बैठक करके 318 परिवारों के मुआवजे का निर्धारण भी कर दिया है। कलेक्टर संजीव श्रीवास्तव ने 12 सितंबर को एक कमेटी का गठन भी कर दिया था, इसी के साथ यह तय हो गया था की 12 सितंबर 2022 की तारीख से पात्र सभी निवासियों को मुआवजा दिया जाएगा।

सूची हुई फाइनल

बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व के रेंज में बसे ग्राम गढ़पुरी के विस्थापन के संदर्भ में एक आवश्यक बैठक 28 सितंबर को रखी गई थी। जिसमें उन सभी 318 परिवारों की सूची को अंतिम रूप दिया गया, जिन्होंने अपना आवेदन गांव को खाली करने के लिए दिया था इस सूची का वाचन अब ग्राम सभा की बैठक में किया जाएगा और वही आपत्ति आमंत्रित की जाएगी। इसके पश्चात आगे की प्रक्रिया प्रारंभ होगी। अगली प्रक्रिया में गांव खाली करने वाले सभी परिवारों के ज्वाइंट अकाउंट खोले जाएंगे जिसमें वन विभाग द्वारा मुआवजे की राशि में से एक लाख रुपये डाल दिया जाएगा। शेष राशि विस्थापन के तुरंत बाद ग्रामीणों को प्रदान कर दी जाएगी।

मुआवजे के दो विकल्प

मुआवजे के प्रधान के अंतर्गत दो विकल्प हैं लेकिन वन विभाग सिर्फ एक ही विकल्प ग्रामीणों को प्रदान कर रहा है इस विकल्प के तहत उन्हें 15 लाख रुपए नगद प्रदान किए जा रहे हैं यह राशि प्रति व्यस्क व्यक्ति को एक परिवार मानकर प्रदान की जाती है। पति पत्नी को एक परिवार माना जाता है और उस परिवार में यदि कोई व्यस्क पुत्र अथवा अविवाहित पुत्री हो तो उसे स्वतंत्र यूनिट मानकर अलग मुआवजा प्रदान किया जाता है। विधवा महिला को भी एक यूनिट माना जाता है। इसी तरह विकलांग व्यक्ति और अनाथ बच्चों को भी यूनिट मानकर मुआवजा प्रदान किया जाता है।

गांव में 593 परिवार

गढ़पुरी गांव में कुल परिवारों की संख्या 593 है जिनकी जनसंख्या 1452 है। 318 परिवारों ने गांव खाली करने के लिए अपनी सहमति प्रदान कर दी है, जबकि 275 परिवार अभी भी शेष बच रहे हैं। वन विभाग के अधिकारियों का कहना है कि जल्द ही शेष परिवारों से भी आवेदन ले लिया जाएगा और गांव खाली करा दिया जाएगा।

बढ़ जाएगा ग्रास लैंड

बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व के खितौली रेंज में स्थित गढ़पुरी गांव के खाली हो जाने से जंगल का ग्रास लैंड काफी बढ़ जाएगा। यह गांव 415.09 हेक्टेयर में बसा हुआ है। इस पूरे क्षेत्र में जब ग्रास लैंड तैयार किया जाएगा तो निश्चित तौर पर बाघ संरक्षण के अभियान को नई ताकत मिलेगी। इस गांव के अलावा बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व के पनपथा जोन में गांगीताल, सेजवाही, पतोर रेंज में बमेरा, कसेरू, कुशमहा, बड़वाही, बगैहा, और खितौली में बगदारी गांव अभी भी बड़ी समस्या बने हुए हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close