उमरिया(नईदुनिया प्रतिनिधि)। बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व में कुछ नए बाघ दिखाई दे रहे हैं जो पर्यटकों को रोमांचित कर रहे हैं। शुक्रवार को देखे गए इसी तरह के एक नए बाघ ने पर्यटकों को काफी देर तक रोमांचित किया। बांधवगढ़ टइगर रिजर्व में अभी भी पर्यटकों की भारी भीड़ है और पर्यटक सफारी करने के लिए पहुंच रहे हैं। हालांकि बीस जनवरी के बाद पर्यटकों की भीड़ में कमी आने लगेगी।

यहां दिखा बाघः यह बाघ बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व के ताला और मगधी रेंज के आसपास नजर आया। पर्यटकों ने इस दौरान इस बाघ के कई वीडियो बनाए और उसे वायरल कर दिया है। यह वीडियो भी लोगों को काफी रोमांचित कर रहा है और चर्चा में है बना हुआ है।

पेड़ के नीचे से चलाः बताया गया है कि यह नया बाघ पार्क के अंदर रास्ते के किनारे एक पेड़ के नीचे खड़ा हुआ था। पर्यटकों के वाहन के नजदीक पहुंचने के बावजूद इस बाघ ने किसी भी तरह की कोई प्रतिक्रिया नहीं की और अपने में मस्त रहा। काफी देर तक एक स्थान पर खड़े रहने के बाद बाघ ने रास्ता पार किया और पर्यटकों की जिप्सी के सामने से दूसरी तरफ निकल गया।

रोमांचित हुए पर्यटकः बाघ को इस तरह अपनी जिप्सी के सामने से जाता हुआ देखकर पर्यटक खुशी से किलकारी निकालने लगे और रोमांचित हो गए। दूसरी तरफ जाने के बाद भी यह बाघ पर्यटकों के सामने बना रहा।

पहली बार दिखाः बताया गया है कि यह बाघ पहली बार बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व में दिखाई पड़ा है। संभवत यह बाघ आसपास के किसी जंगल से भटकता हुआ यहां पहुंच गया है। क्योंकि इस बाघ की अभी तक कोई पहचान नहीं हुई है।

ज्यादातर बाघों को नंबरः बांधवगढ़ में ज्यादातर बाघों की पहचान की जा चुकी है और उन्हें नंबर दिए जा चुके हैं। जबकि इस बाघ को अभी तक कोई पहचान नहीं दी गई है। कुछ बाघों को जिनका नामकरण पार्क प्रबंधन ने नहीं किया है उन्हें भी गाइड और जिप्सी चालक अपनी तरफ से कोई ना कोई नाम दे देते हैं। लेकिन ताला और मगधी के बीच में देखा यह बाघ अभी तक किसी भी रूप में नहीं पहचाना जा रहा है।

दूसरे जंगल का बाघः यही कारण है कि यह माना जा रहा है कि यह बाघ आसपास के किसी जंगल से भटक कर यह पहुंचा है। जंगल आपस में एक दूसरे से जुड़े हुए हैं जिसके कारण न सिर्फ बाघ बल्कि दूसरे जानवर भी एक जंगल से दूसरे जन्म जंगल तक पहुंच जाते हैं। बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व में पिछले 4 सालों से बसे हाथी भी इसी का प्रमाण है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local