उमरिया। बांधवगढ़ नेशनल पार्क के ताला रेंज की रानी कनकटी बाघिन के दो शावकों के शव भी गुरुवार की शाम को मिल गये है। कनकटी बाघिन की मौत एक दिन पहले ही हो गई थी। उसका शव ताला रेंज में स्थित एमपीटी के पीछे स्थित चरणगंगा नाले में पाया गया था। इसी स्थान से लगभग पचास गज की दूरी पर फारेस्ट रेस्ट हाउस के पीछे नाले में ही दोनों शावकों के शव पाए गए हैं।

कनकटी बाघिन के तीनों शावकों की तलाश में बुधवार से ही हाथियों का दल लगा हुआ था। तलाश के दौरान ही फारेस्ट रेस्ट हाउस के पीछे नाले की रेत में फंसे हुए दोनों शावकों के शव देखे गए। घटना की सूचना मिलने के बाद बांधवगढ़ के डायरेक्टर सीएच मुरलीकृष्णन, डिप्टी डायरेक्टर दिनेश गुप्ता, डॉ.नितिन गुप्ता तथा रेंजर राजेश त्रिपाठी सहित कई अधिकारी मौके पर पहुंच गए। शव का पंचनामा बनाने के बाद देर शाम उसका पीएम किया गया और इसके बाद उनका दाह संस्कार कर दिया गया।

6 से 8 माह की आयु के शावक

घटना का शिकार हुए दोनों शावकों की उम्र 6 से 8 माह के बीच बतायी जा रही है। इन दोनों शावकों का जन्म दिसंबर 2013 के आखिर अथवा जनवरी 2014 में होने का अनुमान है।

कनकटी बाघिन के तीन शावक लापता थे जिसमें से दो के शव मिल गए हैं जबकि तीसरा शावक जीवित बताया जा रहा है। तीसरे शावक को जीवित अवस्था में देखा भी गया है लेकिन उस तक पहुंचने की पुष्टि अभी पार्क प्रबंधन ने नहीं की है। यदि तीसरा शावक जीवित है तो उसे इंक्लोजर में रखा जाएगा। इसके लिए पार्क प्रबंधन अलग से तैयारी कर रहा है।

फाईटिंग का परिणाम

बारिश का ये मौसम बाघों की मेटिंग का सीजन है। इस दौरान बाघ जब बाघिन से मिलन के लिए जाता है तो वो नहीं चाहता कि बाघिन के आसपास कोई और मौजूद हो। अनुमान लगाया जा रहा है कि इस घटना में भी ऐसा ही कुछ हुआ होगा। कनकटी बाघिन के आसपास मौजूद तीनों शावकों पर बाघ ने हमला किया होगा और अपने बच्चों को बचाने के दौरान कनकटी बाघिन की जान चली गई होगी।

शावकों की मौत भी बाघ के हमले में ही होने का अनुमान लगाया जा रहा है। शावकों के शव पर भी चोट के गहरे निशान पाये गए हैं। जो बाघ से फाईटिंग के दौरान ही बन सकते हैं। हालांकि अभी शावकों के मौत के कारणों की अधिकृत पुष्टि पार्क प्रबंधन ने नहीं की है। पार्क प्रबंधन का कहना है कि मौत का कारण पीएम रिपोर्ट आने के बाद ही मालूम हो पाएगा। जहां पर शावकों के शव पाये गए थे वहां पास ही एक हिरण का शव भी पाया गया है, इससे इस अनुमान को बल मिलता है कि शावकों को मारने वाला हमलावर कोई बाघ ही था।

शव मिले हैं

कनकटी बाघिन के जिन तीन शावकों की तलाश की जा रही थी उसमें से दो के शव मिल गए हैं। तीसरा शावक जीवित होने का अनुमान है। जिसकी तलाश की जा रही है।

सीएच मुरलीकृष्णन, पार्क डायरेक्टर