उमरिया, नईदुनिया प्रतिनिधि। बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व में पर्यटकों के सामने बाघ रोमांचित कर देने वाले दृश्य उत्पन्न कर रहे हैं। इसी तरह के रोमांचित कर देने वाले दृश्यों में एक दृश्य यह भी है कि बाघ शिकार के साथ अचानक पर्यटकों की जिप्सियों के सामने आ गया। पर्यटकों को यह रोमांचित कर देने वाला दृश्य बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व के मगधी पर्यटन जोन में देखने को मिला। बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व के मगधी में बाघों की संख्या ज्यादा है और यहां पर्यटकों को बाघ देखने को मिल ही जाते हैं यही कारण है कि पर्यटक इस रेंज को ज्यादा पसंद करते हैं।

खींच कर ले गया अपना शिकार

बाघ अपने शिकार को अपने जबड़े में फंसाए हुए था और उसे खींचकर जंगल के अंदर ले जा रहा था। दरअसल बाघ ने एक सांभर का शिकार रास्ते के किनारे पर किया था और आसपास पर्यटकों की भीड़ जब बढ़ने लगी तो वह उसे खींचकर रास्ता पार करते हुए जंगल के अंदर लेकर चला गया। सम्भवतः बाघ नहीं चाहता था कि वह अपने शिकार को लोगों के सामने खाए और यही कारण था कि लोगों की भीड़ लगते ही बाघ अपने शिकार को घसीटते हुआ जंगल के अंदर लेकर चला गया। पर्यटकों ने बाघ को जंगल के एक हिस्से से पहले रास्ते पर आते हुए और फिर रास्ते से जंगल के दूसरे हिस्से में शिकार को घसीटते हुए देखा। निश्चित तौर पर जंगल के अंदर घटित होने वाला यह दृश्य पर्यटकों के लिए रोमांचकारी था और कभी ना भूल पाने वाला भी।

कुछ देर पहले ही किया था शिकार

कुछ देर पहले ही बाघ ने इस सांभर का शिकार किया था। बाघ के शिकार करते ही पर्यटकों की जिप्सियां घटनास्थल पर पहुंच गई जिसकी वजह से बाघ खुद को असहज महसूस करने लगा। इसके बाद वह अपने शिकार को जंगल के अंदर सुरक्षित और एकांत वाले स्थान पर ले जाने लगा। हालांकि इस दृश्य को देखकर जिप्सियों में सवार पर्यटक रोमांचित हो गए और उन्होंने बाघ का यह दृश्य अपने कैमरे में कैद कर लिया। पर्यटकों ने शिकार को खींच कर ले जा रहे बाघ का वीडियो बनाया और उसे वायरल कर दिया।

एकांत पसंद करते हैं बाघ

बाघ स्वभाव से न सिर्फ आलसी होते हैं बल्कि शर्मीले भी होते हैं। यही कारण है कि बाघ अक्सर अकेले रहना पसंद करते हैं। इस मामले में भी ऐसा ही कुछ हुआ और बाघ पर्यटकों को देखकर अपने शिकार को एकांत की तरफ ले जाने लगा। अपने शिकार के साथ पर्यटकों के सामने इस तरह आए बाघ की हरकत से समझने की आवश्यकता है कि जंगल में मनुष्य के दखल को कम किया जाना कितना आवश्यक है। हालांकि इसके विपरीत पर्यटन विभाग मनुष्य का जंगल में दखल लगातार बढ़ता जा रहा है।

Posted By: Mukesh Vishwakarma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close