उमरिया (नईदुनिया प्रतिनिधि)। जिले के पाली जनपद अंतर्गत ग्राम छोट तुम्मी में डायरिया से तीन लोगों की मौत के बाद स्वास्थ्य विभाग का अमला सतर्क हुआ है। यहां पिछले तीन दिनों में कई लोग बीमार हो चुके हैं। बताया गया है कि उल्टी-दस्त के प्रकोप से न सिर्फ इस गांव के बच्चे बल्कि बड़े भी प्रभावित हैं। गांव में बीस से ज्यादा लोग बीमार हो चुके हैं जिनकी हालल गंभीर बनी हुई है। तीन लोगों की मौत तो अलग-अलग दिनों में हुई है। हालांकि सीएमएचओ का कहना है कि उल्टी-दस्त से सिर्फ एक मौत हुई है और बाकी दो लोगों की मौत ज्यादा उम्र और दूसरे रोगों के कारण हुई है।

जिला अस्पताल में किया दाखिल

छोट तुम्मी के तीन लोगों को जिला अस्पताल में भी दाखिल किया गया है। बताया जा रहा है कि जिन तीन लोगों को जिला अस्पताल में दाखिल किया गया है उनकी हालत ज्यादा खराब थी। हालांकि ज्यादातर लोगों का उपचार गांव में ही किया जा रहा है। गांव में उपचार के लिए भी बुधवार को ही स्वास्थ्य अमला पहुंचा। जबकि इससे पहले यहां फैले डायरिया की जानकारी जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग को दी जा चुकी थी। कलेक्टर ने भी सीएमएचओ को पहले ही अगाह कर दिया था लेकिन इसके बाद भी स्वास्थ्य विभाग ने मामले को गंभीरता से नहीं लिया और मामला यहां तक पहुंच गया।

स्वास्थ्य अमला पहुंचा

जिले के पाली जनपद पंचायत में छोट तुम्मी में उल्टी दस्त एवं डायरिया की शिकायत मिलने पर कलेक्टर संजीव श्रीवास्तव द्वारा मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डा आर के मेहरा को तत्काल चिकित्सकों के दल एवं आवश्यक औषधियों के साथ छोट तुम्मी पहुंचने के निर्देश दिए गए थे। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी के नेतृत्व में चिकित्सकों का दल छोट तुम्मी पहुंचकर घर घर संपर्क कर पीड़ित लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण करनें के साथ ही आवश्यक दवाएं उपलब्ध करा रहा है। सीएमएचओ द्वारा बताया गया कि गंदा पानी पीने से लोगों को डायरिया का संक्रमण हुआ है। ग्राम छोट तुम्मी सहित आस पास के लोगों को पीने हेतु शुद्ध पेयजल उबालकर एवं छानकर पीने की सलाह दी गई थी।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close