उमरिया, नईदुनिया प्रतिनिधि। पीटीएस कालोनी के सरकारी आवास में मंगलवार की सुबह एक सब इंस्पेक्टर द्वारा की गई खुदकुशी मामले में सुसाइड नोट के आधार पर कोतवाली पुलिस ने दमोह निवासी एक महिला के विरुद्ध प्रकरण पंजीबद्ध किया है। बताया जाता है कि सब इंस्पेक्टर ने खुदकुशी से पूर्व घटना स्थल पर सुसाइड नोट छोड़ा था। उसी आधार पर पुलिस ने दमोह निवासी आरोपित महिला के विरुद्ध प्रकरण पंजीबद्ध कर मामले को विवेचना में लिया है। इस मामले में उमरिया पुलिस ने दमोह से काफी जानकारियां जुटाई है और इन जानकारियों के आधार पर ही पुलिस ने अपराध दर्ज करने की कार्रवाई की है। इस मामले में जल्द ही महिला की गिरफ्तारी भी हो सकती है।

भेजता था रुपये : दमोह निवासी सब इंस्पेक्टर का उक्त महिला से सम्बन्ध रहा है और पिछले कई वर्षों से लगातार हर माह 10 हजार की राशि भी देता रहा है। ये मोटी रकम किन कारणों से सब इंस्पेक्टर उक्त आरोपित महिला को दे रहा था, फिलहाल साफ नहीं है। हालांकि दस हजार रुपये प्रतिमाह भेजने के सबूत मिले हैं। जिससे यह अनुमान लगाया जा रहा है कि सब इंस्पेक्टर और उक्त महिला के बीच संबंध काफी प्रगाढ़ रहे होंगे। संबंध कैसे थे इसकी जांच फिलहाल पुलिस कर रही है। जब तक जांच पूरी नहीं हो जाती तब तक इस मामले में पुलिस ने कुछ भी स्पष्ट नहीं कहना चाह रही है।

सुसाइड नोट बड़ा आधार : हालांकि पूरे मामले को सुसाइड नोट और दूसरे साक्ष्य के आधार पर पुलिस खुदकुशी करने के लिए प्रेरित करने के मामले से जोड़ कर देख रही है। उक्त सब इंस्पेक्टर वर्ष 2018-19 में स्थानांतरण के बाद पीटीएस उमरिया आया था। उमरिया आने के बाद भी सब इंस्पेक्टर के दमोह निवासी महिला के साथ संबंध बने हुए थे। दोनों बकायदा फोन पर बात करते थे ऐसी जानकारी पुलिस को मिली है। दोनों के बीच किस तरह की बातें होती थी यह जानने की कोशिश उमरिया पुलिस कर रही है। यह स्पष्ट होने के बाद ही सारी हकीकत सामने आ पाएगी।

यह जानकारी भी ली : बताया जाता है कि पुलिस इस मामले में मृतक के बैंक एकाउंट, सीडीआर जैसे कई ज़रूरी दस्तावेज खंगाल रही है। मृतक सब इंस्पेक्टर किस बात से मानसिक प्रताड़ित रहा है और किन परिस्थितियों में आत्मघाती कदम उठाकर खुदकुशी की है, फिलहाल इस पूरे मामले की जांच में पुलिस जुटी है। पुलिस की माने तो जल्द ही पूरे मामले का पर्दाफाश कर लिया जाएगा।

Posted By: Brajesh Shukla

NaiDunia Local
NaiDunia Local