उमरिया(नईदुनिया प्रतिनिधि)। देश व्यापी कोरोना के टीकाकरण का कार्य उमरिया जिले में 16 जनवरी से 7 केंद्रों में प्रारभ होगा। जिले के करकेली, मानपुर, पाली, अमरपुर, एसईसीएम नौरोजाबाद, चंदिया तथा जिला चिकित्सालय में कोरोना के टीके लगाए जाएंगे। कलेक्टर संजीव श्रीवास्तव ने टीकाकरण की तैयारियों की समीक्षा करते हुए निर्देशित किया है कि होने वाले टीकाकरण की सभी तैयारियां पूर्ण की जाए तथा मानीटरिंग के लिए चिकित्सकों, परियोजना अधिकारी महिला बाल विकास एवं राजस्व अधिकारियों को जोनल अधिकारी नियुक्त किया जाए। सभी स्थानों में सुरक्षा की पर्याप्त व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए भी कलेक्टर ने कहा है। टीकाकरण का कार्य प्रातः 9 बजे से सायं 4 बजे तक किया जाएगा। प्रतिदिन प्रत्येक केन्द्र में 100 लोगों का टीकाकरण किया जाएगा।

यह की जाएगी व्यवस्थाः नोडल अधिकारी अनिल सिंह ने बताया कि चिकित्सालयों में होने वाले टीकाकरण के लिए वेटिंग रूम, वैक्सीनेशन कक्ष, आब्जर्वेशन कक्ष तथा काउंसलिंग की व्यवस्था की जाएगी। इन स्थानों पर चिकित्सकों की ड्यिूटी रहेगी। वेटिंग कक्ष में क्रास वेंटीलेशन आवश्यक है। टीकाकरण की मानीटरिंग के लिए जिला कोविड कमाण्ड सेंटर में कंट्रोल रूम स्थापित किया गया है। जोनल अधिकारियों को 13 एवं 14 जनवरी को प्रशिक्षण दिया जाएगा तथा उन्हें किट उपलब्ध कराई जाएगी। जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ सीपी शाक्य ने बताया कि 17 फोकल प्वाइंट तथा 10 हजार वैक्सीन रखने की व्यवस्था उपलब्ध है।

हो सकती है यह समस्याः बताया गया है कि कुछ प्रकरणों में टीकाकरण के बाद खुजली या ताप बढने, मिचली की शिकायतें हो सकती है। इसके लिए एमरजेंसी किट बनाया गया है। संबंधित चिकित्सक द्वारा तत्काल उपचार किया जाएगा। इसके लिए भी आवश्यक तैयारियां की गई है। कोविड वैक्सीनेशन की तैयारी का आंकलन करने के लिए पिछले शुक्रवार को उमरिया जिले में ड्राई रन किया गया और जिले के सामर्थ्य को समझा गया। इस दौरान उन समस्याओं का आंकलन किया गया जो टीकारण के दौरान उत्पन्न हो सकती हैं।

सबसे पहले हेल्थ वर्करों को टीकाः अनिल सिंह ने बताया कि प्रथम चरण में 2770 हेल्थ वर्करों का वैक्सीनेशन किया जाएगा, जिसके लिए जनपद स्तर पर प्रशिक्षण दिया जा रहा है। वैक्सीनेंशन के लिए जिले को 15 सेक्टर तथा 123 सब सेंटर में बांटा गया है। 14 फोकल प्वाइंट का निर्धारण इस तरह से किया गया है कि कोड चयन स्टोर स्थल पर तापमान मेनटेन रखा जा सके। बैकअप के लिए जनरेटर की व्यवस्था की गई है। 300 वैक्सीनेंटर इस कार्य को अंजाम देगे । दवा को रखने के लिए फ्रीजर से आईएलआर बाक्स की भी व्यवस्था की गई है। यह दवा केवल 2 से चार डिग्री सेल्सियस में रखी जा सकेगी।

मोबाइल पर आएगा संदेशः वैक्सीन किसी अपात्र व्यक्ति को नही लगे इसके लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा तैयारी की गई है । सूचीबद्ध व्यक्ति को वैक्सीन लगने के पहले मोबाइल संदेश आएगा फिर सेंटर मे पहुंचते ही उसकी पहचान की जाएगी। पहचान पुख्ता करने के बाद स्वास्थ्य परीक्षण किया जाएगा। काउंसलर द्वारा दवा के बारे के बारे मे जानकारी दी जाएगी। सभी शंका का समाधान करने के बाद एक अलग कक्ष में इंजेक्शन की व्यवस्था रहेगी। वैक्सीन लगने के बाद एक घंटे तक वहीं रहना पडेगा। जिसका वैक्सीनेशन किया गया है उसे नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र का नंबर देकर घर रवाना किया जाएगा। वैक्सीन की अगली डोज 28 दिन बाद दी जाएगी। यह कार्य ए एन एम एवं स्टाफ नर्स द्वारा किया जाना है। वैक्सीनेशन कार्यक्रम की तैयारी निर्वाचन की भांति माइक्रो प्लान तैयार कर की जा रही है। एक बूथ पर पांच लोगो की ड्यिुटी लगाई गई है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस