उमरिया(नईदुनिया प्रतिनिधि)। कोरोना के कहर के बावजूद मकर संक्रांति के अवसर पर 14 जनवरी को परंपरागत ढंग से मेले का आयोजन जिलेभर में शुरू हो गया है। 14 जनवरी को भी लोगों ने स्नान और दान किया, साथ ही सगरा मंदिर में भण्डारे का आयोजन भी कराया गया। हालांकि मकर संक्रांति अर्द्घरात्रि के बाद प्रारंभ होगी लेकिन परंपरानुसार 14 जनवरी को ही जिले में लगभग एक दर्जन स्थानों पर मेले प्रारंभ हो गए।

सुबह से लग गई दुकानें: मकर संक्रांति पर जिले के 24 से ज्यादा स्थानों पर विशाल मेलों का आयोजन हुआ। मेले में बच्चे, बूढ़े सबने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया। मानपुर जनपद क्षेत्र के पड़वार और न्यू जोबी में सात दिनों तक मेले का आयोजन शुरु हुआ जबकि झिरिया आश्रम में तीन दिनों तक चलने वाले मेले का शुभारंभ मकर संक्रांति यानि 14 जनवरी को हुआ। कई स्थानों पर मेले के शुभारंभ के लिए भी आयोजन हुए और सरपंच, विधायक आदि द्वारा मेले का शुभारंभ किया गया। उमरिया शहर में मेले के शुभारंभ के लिए कोई आयोजन नहीं होता सामान्य ढंग से मेला लग जाता है और लोग पहुंच गए। सुबह से लगने वाला यह मेला देर शाम तक जारी रहा। इस दौरान आसपास के क्षेत्रों से लोग बड़ी संख्या में पहुंचे।

यहां लगे मेलेः मकर संक्रांति पर जिले के अमोलेश्वर धाम अमोलखोह, सिद्घबाबा घाट जोहिला नदी पर, सिंहवाड़ा पिरहा घाट घोरछत्र नदी, उमरिया मढ़ीवाह, उमरिया सगरा धाम, ग्राम अचला के मां छिन्नमस्ता मंदिर,नरवार के कामाख्या देवी माता मंदिर, ग्राम कछरवार के फूलमती देवी मंदिर, बड़ेरी के रंगमहल और भरौला, कौड़िया के झालखण्ड के प्राचीन मंदिर, मानपुर के दशरथ घाट, शिवधाम पड़वार, मार्कण्डेय आश्रम न्यू जोबी और झिरिया आश्रम में विशाल मेला भरा। इसमें हजारो की संख्या में लोग शामिल हुए। मेले का सबसे ज्यादा आकर्षण बच्चे थे जिन्होंने रंगी बिरंगी वेशभूशा वाले सामान खरीदकर मेले का मजा लिया। बच्चों ने गुब्बारे, गन्ना, खिलौना खेला और ऊंचा वाला झूला भी जमकर झूला।

कहीं सात दिन तो कहीं सात दिन के मेलेः 14 जनवरी से शुरू हुए मेले अलग-अलग स्थानों पर अलग-अलग समयों के लिए लगेगें। कुछ स्थानों पर मेला एक दिन लगेगा और कुछ स्थानों पर दो दिनों तक। जबकि कुछ स्थानों पर 3 और 7 दिनों तक भी मेले लगेंगे। मकर संक्रांति पर लगने वाले मेलों में सुरक्षा व्यवस्था के साथ पुलिस ने सायबर ठगों से सुरक्षित रहने के लिए भी प्रचार प्रसार करने का निर्णय लिया है। उमरिया शहर में मढ़ीवाह और सगरा मंदिर में मेलों का आयोजन परम्परागत ढंग से होगा। मानपुर जनपद क्षेत्र के पड़वार और न्यू जोबी में सात दिनों तक मेले का आयोजन होगा जबकि झिरिया आश्रम में तीन दिनों तक मेला चलेगा। मेले का शुभारंभ सभी जगह14 जनवरी की सुबह होगा। कई स्थानों पर मेले के शुभारंभ के लिए भी आयोजन होंगे और सरपंच, विधायक आदि द्वारा मेले का शुभारंभ किया जाएगा। उमरिया शहर में मेले के शुभारंभ के लिए कोई आयोजन नहीं होता सामान्य ढंग से मेला लग जाता है और लोग पहुंच जाते हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस