उमरिया (नईदुनिया न्यूज)। मरीज को नहीं देखने के मामले में और कार्यस्थल पर अनुपस्थित रहने के कारण कलेक्टर संजीव श्रीवास्तव ने जिला अस्पताल के पांच डॉक्टरों को नोटिस जारी कर दिया है। इतना ही नहीं एक नर्स को निलंबित भी कर दिया गया है। यह कार्यवाही शनिवार को की गई है। इस बारे में मिली जानकारी के मुताबिक शुक्रवार की रात पेशेंट को प्रॉपर न देखने पर महिला चिकित्सक डॉ रश्मि धनंजय को शोकाज नोटिस दिया गया है। साथ ही उक्त मामले से जुड़े डॉ प्रमोद द्विवेदी को भी नोटिस जारी हुआ है। इसके अलावा ड्यूटी नर्स ऋतु शुक्ल को सस्पेंड कर दिया गया है।

मरीज के परिजनों ने की थी शिकायत

इस मामले में बताया जाता है कि शुक्रवार की देर रात एक मरीज के परिजन ने अस्पताल में चिकित्सक न होने की जानकारी कलेक्टर संजीव श्रीवास्तव को दी थी। जिसके बाद कलेक्टर ने जानकारी ली,और ड्यूटी डॉक्टर डॉ प्रमोद द्विवेदी को मरीज को हैंडल करने के लिए निर्देश दिया परन्तु डॉ प्रमोद द्विवेदी ने भी प्राथमिक रूप से देख कर सम्बंधित मरीज को रेफर कर दिया। जिसके बाद दोनो डॉक्टर को नोटिस जारी किया गया है। वही एक नर्स इसी मामले में सस्पेंड बताई जा रही है।

अस्पताल में नहीं थे डॉक्टर

इसके अलावा शनिवार की दोपहर जिला अस्पताल निरीक्षण में आये कलेक्टर संजीव श्रीवास्तव को ओपीडी में क़ई डॉक्टरअनुपस्थित मिले। जिसके बाद कलेक्टर ने डॉ रिचा गुप्ता, डॉ ऋषभ रिहंगडाले, डॉ मुकुल तिवारी को शोकाज नोटिस दिया है।जिले में शायद ये पहला मौका होगा जब कलेक्टर ने जिला अस्पताल की व्यवस्था को बेहतर करने एक दिन में एक साथ पांच डॉक्टर को शोकाज नोटिस जारी किया है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local