उमरिया, नईदुनिया प्रतिन‍िधि। जंगल में भले ही पर्यटक बाघ को देखने जाते हैं लेकिन एक घबराहट उनके मन में हमेशा बनी रहती है कि कहीं बाघ आक्रामक अंदाज में सामने आ गया तो क्या होगा और सच में जब कहीं बाघ इसी आक्रामक अंदाज में सामने आ जाए तो निश्चित तौर पर पर्यटकों के पसीने छूट जाते हैं। ऐसा ही एक वाक्या बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व के ताला रेंज में तब हुआ जब पर्यटकों की जिप्सी के बीच से अचानक एक बाघ तेज गति से भागता हुआ निकला और अपने शिकार के पीछे लपकने लगा। हालांकि बाघ के भागने की सूचना बंदरों और पक्षियों ने पहले ही पर्यटकों को दे दी थी। जिससे कुछ पर्यटक तो सचेत हो गए थे लेकिन जो इसे नहीं समझ पाए वह घबरा गए।

शिकार के पीछे भाग रहा था बाघ : दरअसल बाघ अपने एक शिकार के पीछे भाग रहा था। घने जंगलों में जब बाघ काफी दूर था तभी बंदरों और पक्षियों की आवाज तेज हो गई थी। बंदर जोर से किटकिटाने लगे थे और पक्षी चहकने लगे थे। दूर जंगल में कहीं सरसराहट की आवाज भी आ रही थी लेकिन यह समझना सबके बस की बात नहीं थी कि आखिर आवाज किस चीज की है। लेकिन जैसे ही घने जंगल से निकलकर बाघ सामने आया तो सब रोमांचित हो गए। बाघ का पूरा ध्यान अपने शिकार पर था और वह तेजी से उसके पीछे भाग रहा था। दरअसल बाघ एक हिरण का पीछा कर रहा था जिसे वह हर हाल में दबोच लेना चाहता था। अंत में बाघ ने हिरण को शायद दबोच भी लिया क्योंकि इसकी पुष्टि नहीं हो पाई। बाघ अपने शिकार का पीछा करते हुए घने जंगल में गुम हो गया था।

पर्यटकों ने बनाया वीडियो : जंगल के अंदर पर्यटकों के मोबाइल कैमरे हमेशा चालू रहते हैं। पर्यटक किसी ना किसी चीज का वीडियो बनाते ही रहते हैं और पर्यटकों की यह रुचि उन्हें कभी-कभी अच्छे विजुअल उपलब्ध करा देती है। इस मामले में भी ऐसा ही हुआ। वीडियो बना रहे पर्यटक अचानक सामने आए बाघ को भी अपने कैमरे में कैद करने में सफल हो गए। पर्यटकों द्वारा बनाया गया है वीडियो काफी पसंद किया जा रहा है और लोग इसे आनंद ले कर देख रहे हैं।

वीडियो में बंदर और पक्षियों की आवाजें : बांधवगढ़ टाइगर रिज़र्व इवनिंग सफारी के दौरान शिकार के पीछे भागते टाइगर को पर्यटकों ने अपने कैमरों में कैद कर लिया। इस वीडियो में बंदर और पक्षियों की आवाजें साफ सुनाई दे रहीं हैं। जब टाइगर शिकार के पीछे भागता है तो लंगूर, मोर, चीतल एक विशेष आवाज निकालकर पूरे जंगल के जानवरों को आगाह करते हैं। जंगल में 'सर्वाइवल ऑफ़ द फिटेस्ट' सिद्धांत के अनुसार जानवर व्यवहार करते हैं। मतलब ये कि जो ताकतवर होगा, माहौल के हिसाब से ख़ुद को ढाल लेगा और ख़तरे को देखते ही चौकन्ना होकर वहां से निकलने में कामयाब होगा और वही बचेगा।

Posted By: Brajesh Shukla

NaiDunia Local
NaiDunia Local