उमरिया(नईदुनिया प्रतिनिधि)। त्रि स्तरीय पंचायत चुनाव के पहले चरण में दो जनपदों के 438 केंद्रों में शनिवार को शाम चार बजे तक 65 प्रतिशत मतदान हुआ। मतदान सुबह सात बजे शुरू हो गया था और तीन बजे तक होना था लेकिन ज्यादातर केंद्रों में दोपहर बाद बढ़ी मतदाताओं की भीड़ की वजह से मतदान देर शाम तक होता रहा। मतदान केंद्रों में लगातार मतदाताओं की कतारें लंबी होती गईं। जिससे मतदान की सारी कार्ययोजना डगमगा गई जिससे केंद्रों में ही होने वाली मतगणना का समय भी प्रभावित हुआ। कई केंद्रों में शाम पांच बजे तक तो कई केंद्रों में छह बजे के बाद तक भी मतदान कराए गए। जिसके बाद केंद्र में ही मतगणना की तैयारी की गई और रात दस बजे के बाद तक वोटों की गिनती होती रही। प्रत्याशियों के अभिकर्ताओं को मतगणना की सही जानकारी नहीं होने के कारण कई जगह समस्याएं भी उत्पन्ना हुई जिससे गणना का कार्य और भी देर तक चलता रहा।

मतदाताओं में उत्साहः लोकतंत्र के लोक उत्सव में मतदाताओं ने भारी उत्साह दिखाया। प्रातः 6 बजे से ही मतदान केंद्रों में मतदाताओ की लाइनें लग गई थीं। महिला व पहली बार अपने मताधिकार का उपयोग कर रहे मतदाताओं में भारी उत्साह देखने को मिला। राज्य निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार मतदान प्रातः 7 बजे से प्रारंभ हुआ।

इस तरह हुआ मतदानः प्रथम दो घंटों में नौ बजे तक मतदान का प्रतिशत 12 रहा। इसके बाद पूर्वान्ह 11 बजे तक पाली जनपद पंचायत में महिला मतदान का प्रतिशत 27 तथा पुरूष मतदान का प्रतिशत 26 रहा। जबकि करकेली जनपद पंचायत में महिला एवं पुरूष मतदान का प्रतिशत 27 रहा। मध्यान्ह 1 बजे तक पाली जनपद पंचायत में 43 प्रतिशत महिला मतदाताओं ने तथा 46 प्रतिशत पुरूष मतदाताओं ने एवं करकेली जनपद पंचायत में 46 प्रतिशत महिला मतदाताओ ने एवं 41 प्रतिशत पुरूष मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग कर लिया था। अपरान्ह 3 बजे तक पाली जनपद में महिला का मतदान प्रतिशत 63 एवं पुरूषों का मतदान का प्रतिशत 58 रहा। करकेली जनपद में महिलाओ के मतदान का प्रतिशत 67 तथा पुरूषों के मतदान का प्रतिशत 58 रहा। लगभग सभी मतदान केंद्रों में आयोग द्वारा मतदान हेतु निर्धारित समय अपरान्ह 3 बजे के बाद भी मतदाताओ की कतारें लगी रही।

कलेक्टर की रही नजरः कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी संजीव श्रीवास्तव तथा पुलिस अधीक्षक प्रमोद सिन्हां ने पाली एवं करकेली जनपद पंचायतों के अधिकतर मतदान केंद्रों विशेषकर संवेदनशील मतदान केंद्रों का भ्रमण किया। उन्होंने भ्रमण के दौरान मतदान की गति को बढ़ानें तथा अन्य व्यवस्थाओं के संबंध में रिटर्निग आफीसर सहित सेक्टर अधिकारियों तथा पुलिस एवं सेक्टर मजिस्ट्रेटों को त्वरित निर्देश देकर समस्याओं का निराकरण कराया। कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक ने मतदान केंद्र महरोई, उफरी, पिनौरा, निपनिया, चिल्हारी, महुरा, बड़ागांव, अखड़ार, कौड़िया आदि का भ्रमण किया। इसी तरह निर्वाचन प्रेक्षक आर आर वामनकर तथा अपर कलेक्टर एवं उप जिला निर्वाचन अधिकारी अशोक ओहरी ने पाली जनपद पंचायत के विभिन्ना मतदान केंद्रों का भ्रमण कर व्यवस्था से जुड़े संबंधित अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए।

देने पड़े अतिरिक्त मतदान कर्मचारीः रिटर्निग आफिसर जनपद पंचायत करकेली पंकज नयन तिवारी अपने दल के साथ सामग्री वितरण स्थल पर उपस्थित रहकर विभिन्ना मतदान केंद्रों से प्राप्त शिकायतों का निराकरण आवश्यकतानुसार मतदान केंद्रों में सामग्री तथा दल के सदस्यों का प्रेषण सुनिश्चित कराया। उन्होंने करकेली जनपद पंचायत के महरोई ग्राम पंचायत में बनाएं गए मतदान केंद्रों में पहुंचकर मतदान व्यवस्था का जायजा लिया तथा मतदान दल एवं जोनल अधिकारी की मांग पर अतिरिक्त आठ मतदान कर्मियों की नियुक्ति कराई। जोनल अधिकारियों एवं मतदान दलों से प्राप्त शिकायतों के निराकरण एवं समस्याओं के निदान का कार्य सहायक पंजीयक आशीष श्रीवास्तव तथा मास्टर ट्रेनर सुशील मिश्रा संभाल रहे थे।

धीमा रहा मतदानः मुख्यालय से पांच किमी दूर ग्राम महरोई में मतदान बहुत मद्धम गति से कराया गया। सुबह 7 बजे से कतार में लगे लोग करीब ढाई घण्टे बाद भी कतार में लगे रहे। ग्रामीणों का कहना था कि मतदान अधिकारियों की वजह से निर्वाचन कार्य की गति अपेक्षाकृत प्रभावित हो रही है।

जनपद पंचायत करकेली के अंतर्गत ग्राम पंचायत घुलघुली में भी मतदान धीमा चला। पोलिंग बूथ क्रमांक 176 ग्राम धनवाही में 727 मतदाता हैं जिन्हें मतदान की धीमी गति के कारण परेशान होना पड़ा। यहां दोपहर दो बजकर 45 मिनट तक महज 319 मतदाताओं से वोट डलवाए गए थे। जबकि केंद्र में मतदाताओं की लंबी कतार लगी हुई थी।

ग्राम पंचायत घंघरी में दोपहर तीन बजे के बाद भी सैंकड़ों की संख्या में मतदाता कतार में लगे रहे। यहां लगी कतार को देखने से लग रहा था कि यहां का मतदान तो शाम छह बजे के बाद भी निरंतर जारी रह सकता है।

ग्राम पंचायत बड़ेरी में भी तीन बजे के बाद मतताओं की लंबी कतार देखने को मिली। दोपहर साढ़े तीन बजे यहां बूंदाबांदी भी शुरू हो गई थी जिसके बाद भी मतदाता कतार में लगे रहे और अपनी बारी की प्रतीक्षा करते रहे।

पहली बार मतदान करने वाले युवाओं में उत्साहः पंचायत चुनाव के दौरान पहली बार मतदान करने वाले युवाओं में भी काफी उल्लास देखने को मिला। खासतौर से पहली बार मतदान कर रहीं युवतियों ने खुलकर अपनी प्रसन्नाता व्यक्त की। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव-2022 के दोनों चरणों में जिले के 1092 युवा पहली बार मतदान करेंगे।

इन वार्डों के लिए हुआ मतदानः उमरिया जिले में जिला पंचायत के कुल 10 वार्ड हैं जिनमें से पहले चरण में सिर्फ 6 वार्डों मे मतदान हुआ है। करकेली में जिला पंचायत के कुल 4 वार्ड और पाली में जिला पंचायत के दो वार्ड शामिल हैं। मानपुर के चार वार्डों में दूसरे चरण में मतदान होगा। जिले में तीन जनपद पंचायतों के कुल 62 वार्ड हैं जबकि पहले चरण में दो जनपद पंचायत करकेली और पाली के कुल 40 वार्डों के में ही मतदान हुआ। इसमें से करकेली के 25 और पाली के 15 वार्ड शामिल हैं। उमरिया जिले में पंचायत के कुल 3681 वार्ड हैं जिसमें से पहले चरण में दो जनपदों के कुल 2358 वार्डों में मतदान हुआ। इसमें करकेली के 1730 और पाली के 628 वार्ड शामिल हैं।

438 केंद्रों में हुआ मतदानः जिले के तीनों जनपदों में मतदान केंद्रों की कुल संख्या 717 है लेकिन पहले चरण में दो जनपदों के 438 मतदान केंद्रों में मतदान हुआ है। इसमें करकेली के 316 मतदान केंद्र और पाली के 122 मतदान केंद्र शामिल है।

अतिसंवेदनशील मतदान केंद्रों में नहीं हुई गणनाः पंचायत चुनाव के दौरान मतगणना मतदान केंद्र में ही होनी थी लेकिन संवेदनशील मतदान केंद्रों में गणना नहीं कराई गई। इन केंद्रों की गणना जनपद स्तर पर 28 जून और 4 जुलाई को कराई जाएगी। उमरिया जिले में अतिसंवदेनशील मतदान केंद्रों की संख्या 115 है जबकि संवेदनशी मतदान केंद्र 138 हैं। अतिसंवेदनशील मतदान केंद्रों करकेली में 55, पाली में 17 और मानपुर में 43 हैं। जबकि संवेदनशील मतदान केंद्र करकेली में 34, पाली में 38 और मानपुर में 66 हैं।

आधी रात के बाद लौटे मतदान दलः पंचायत चुनाव से मतदान दल को लौटने में काफी विलंब हुआ। कुछ दल तो रात दस बजे तक वापस लौट आए थे लेकिन कई दल आधी रात के बाद वापस लौटे। दलों के वापस लौटने और उनसे मतदान सामग्री वापस लेने में भी काफी समय लगा।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close