VIDEO: उमरिया। सोमवार की शाम 4:30 से 6 बजे के बाद तक डेढ़ घंटे से ज्यादा देर तक चली तेज आंधी के कारण उमरिया जिले में जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया। काफी तेज गति से चली आंधी की वजह से जिले में सैकड़ों पेड़ टूट कर गिर गए और बिजली व्यवस्था भी चौपट हो गई। ना सिर्फ ग्रामीण क्षेत्रों में बल्कि शहर में भी काफी देर तक बिजली बंद रही। अचानक चली आंधी के कारण लोगों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ा। कई स्थानों पर बड़ी दुर्घटना होते होते रह गई। जिले के इंदवार थाना क्षेत्र के ग्राम सुखदास में आम का पेड़ गिरने से पूर्व सरपंच दद्दी सिंह की पत्नी मुन्नी बाई की मौत हो गई है।

शहर में गिरे पेड़

तेज आंधी की वजह से उमरिया शहर में कई जगह पेड़ गिरे, जिसके कारण बिजली के तार टूट गए और बिजली व्यवस्था ठप हो गई। उमरिया नगर में स्टेशन से बस स्टैंड रोड पर सगरा मंदिर के पास एक बड़ा पेड़ सड़क पर गिर गया। पेड़ के गिरने की वजह से बिजली के तार टूट गए, जिसके कारण इस पूरे क्षेत्र की बिजली काफी देर तक बंद रही। कलेक्ट्रेट के सामने भी एक पेड़ गिर गया।

जिला अस्पताल के पास एक घर की बाउंड्री वाल ढह गई और यहां भी बिजली के तार टूट गए। पाली रोड में भी दो स्थानों पर पेड़ गिर गए जिससे लोगों को काफी नुकसान हुआ है। बस स्टैंड रोड पर सगरा मंदिर के पास मेन रोड पर गिरे पेड़ की वजह से कई लोगों की जान जाते-जाते बची। बताया गया कि घटना के समय यहां से दो बाइक गुजर रही थी ठीक उसी समय पर पेड़ गिरा। यह पेड़ बाइक पर गिर जाता तो लोगों की जान जा सकती थी।

ग्रामीण क्षेत्रों में नुकसान

तेज आंधी की वजह से जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में भी भारी नुकसान हुआ है। सैकड़ों की संख्या में पेड़ टूट कर गिर गए और लोगों के घरों के छप्पर उड़ गए। इस तरह की घटनाएं उमरिया जिला मुख्यालय से लगे ग्राम बड़ेरी में हुई है। करकेली और नरोजाबाद में भी काफी पेड़ गिरे हैं और लोगों के घरों के छप्पर उड़ गए हैं।

अचानक बदला मौसम

सुबह से तेज धूप की वजह से अच्छी खासी गर्मी का मौसम था, जिसके कारण लोग परेशान थे। लेकिन शाम 4:00 बजे के बाद अचानक मौसम बदलने लगा और आसमान पर बादल छाने लगे। संभवत आंधी ना चलती तो बादल बरसते भी लेकिन 4:15 से 4:30 के बीच अचानक तेज हवा चलने लगी, जिसकी वजह से बारिश नहीं हुई। हालांकि आसमान पर छाए बादल यथावत बने रहे।

मौसम के जानकारों का कहना है कि मानसून के पहले उमड़ने वाले बादलों से निश्चित तौर पर एक-दो दिन में तेज बारिश हो सकती है। 1 दिन पहले भी उमरिया शहर में बूंदाबांदी हुई थी लेकिन कोई खास बारिश नहीं हुई। शहडोल जिले से लगे बिरसिंहपुर पाली क्षेत्र के कुछ ग्रामीण हिस्सों में जरूर तेज बारिश हुई थी।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close