सेकंड लीड

- विजय मंदिर में मूर्ति संग्रहण कक्ष का आज केंद्रीय राज्यमंत्री प्रहलाद पटेल करेंगे शुभारंभ

फोटो 2

विदिशा। विजय मंदिर का संग्रहालय जो अब पर्यटकों के स्वागत के लिए तैयार है।

विदिशा(नवदुनिया प्रतिनिधि)।

शहर के मध्य स्थित विजय मंदिर में वर्षों से बंद प्राचीन मूर्तियों को अब पर्यटक भी निहार सकेंगे। इन मूर्तियों के लिए अलग से कक्ष बनाया गया है। जिसका लोकार्पण शुक्रवार को सुबह 11 बजे केंद्रीय पर्यटन एवं संस्कृति राज्यमंत्री प्रहलाद पटेल करेंगे। संग्रहण कक्ष को अब पर्यटकों के लिए खोल दिया गया है। विजय मंदिर में आठवीं शताब्दी की यह मूर्तियां भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग को वर्ष 1971-72 में विजय मंदिर की खुदाई के दौरान मिली थीं, तब से यानि करीब 48 साल से यह प्रतिमाएं यहां दो अलग-अलग कमरों में बंद करके रख दी गईं थी।

भारतीय पुरातत्व विभाग से मिली जानकारी के अनुसार केंद्रीय मंत्री पटेल विजय मंदिर के मूर्ति संग्रहण कक्ष के साथ-साथ उदयगिरि में नृसिंह शिला के लिए बनाए गए शेड का भी लोकार्पण करेंगे। उद्घाटन के साथ ही विजय मंदिर के मूर्ति संग्रहण कक्ष को पर्यटकों के लिए खोल दिया जाएगा। दो माह पहले अगस्त में केंद्रीय मंत्री पटेल विदिशा आए थे तब उन्होंने इन कक्षों को पर्यटकों के लिए खोलने के निर्देश दिए थे। पुरातत्व विभाग के सहायक संरक्षण अधिकारी संदीप मेहतो ने बताया कि कक्ष में 100 अलग-अलग प्रकार की मूर्तियां हैं जो साल 1971 से 72 में यहां हुई खुदाई के दौरान मिली थीं। तब से यह ताले में बंद थीं, लेकिन अब इन्हें पर्यटकों के लिए खोल दिया है। यहां संग्राहलय तैयार किया गया है जहां प्रत्येक मूर्ति पैडस्टल पर रखी गई है, उसी पैडस्टल पर मूर्ति से संबंधित इतिहास के बारे में लिखित में जानकारी भी दी गई है। यहां घूमने के लिए पर्यटकों को किसी प्रकार का शुल्क नहीं लगाया जा रहा है।

चौथी शताब्दी की प्रतिमाओं का क्षरण रोकने के लिए बनाए शेडः

केंद्रीय पर्यटन एवं संस्कृति राज्य मंत्री प्रहलाद पटेल शुक्रवार को उदयगिरि में हुए विभिन्ना निर्माण कार्यों का भी लोकार्पण करेंगे। करीब चौथी शताब्दी की नृसिंह भगवान की शिला और विष्णु भगवान की लेटी हुई प्रतिमा को टिनशेड बनाकर सरंक्षति किया गया है। खुले में होने के कारण धूप, सर्दी और बारिश में इनका क्षरण हो रहा था जिसे रोकने के लिए करीब 25 लाख की लागत से शेड का निर्माण कराया गया है। उदयगिरि पहाड़ी पर विष्णु भगवान की लेटी हुई विशाल प्रतिमा है जो लोहे की जालियों से कवर थी, इन जालियों को हटाकर चारों तरफ कांच लगा दिया गया है, ताकि पर्यटकों को फोटो खींचने में किसी प्रकार की परेशानी ना हो।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस