विदिशा(नवदुनिया प्रतिनिधि) । अहमदपुर चौराहे के पास स्थित बीएचएमएस डाक्टर की क्लीनिक में इंजेक्शन लगने के बाद बुधवार की दोपहर में हुई 26 वर्षीय रोहित शर्मा की मौत के मामले ने नया मोड़ ले लिया है। पुलिस के मुताबिक प्रथम दृष्टया शुरू की गई जांच में प्रेम-प्रसंग का मामला सामने आया है। पुलिस के हाथ मोबाइल की रिकार्डिंग लगी है, जिसमें युवक लड़की से कह रहा है कि तुमने अच्छा नहीं किया, अब मैं जान देने जा रहा हूं। हालांकि, मृतक के स्वजन अभी भी आत्महत्या करने की बात से सहमत नहीं हैं।

बता दें कि विजय नगर कालोनी निवासी 26 वर्षीय रोहित शर्मा एक निजी अस्पताल में कम्पाउंडर था। पुलिस के मुताबिक वह बुधवार की दोपहर में सवा बजे अहमदपुर रोड चुंगीनाका के पास स्थित विश्वकर्मा क्लीनिक पहुंचा था, जहां इंजेक्शन लगने के बात उसकी मौत हो गई थी। स्वजनों का आरोप था कि क्लीनिक में इंजेक्शन लगने के बाद उसकी मौत हुई थी। थाना प्रभारी योगेद्रसिंह दांगी का कहना है कि हमने मामले में जांच शुरू कर दी है, जिसमें सामने आया है कि रोहित ने अपने भाई के मोबाइल से एक लड़की से बात की थी, जिसमें उसने आत्महत्या कर लेने की बात कही थी। हालांकि मोबाइल से नंबर डिलिट कर दिया गया है, लेकिन रिकार्डिंग मिल जाने से पुलिस यहां तक पहुंची है। उन्होंने रोहित और लड़की के बीच चल रही चर्चा भी स्वजनों को सुना दी है। इस संबंध में मृतक के पिता मोहन शर्मा का कहना है कि डाक्टर नीलेश उसका अच्छा दोस्त था। उसे इस प्रेम-प्रसंग के मामले की जानकारी भी होगी, लेकिन उन्होंने इतनी बड़ी घटना हो गई तब तक इस बात को छिपाकर रखा। इस मामले की पूरी जांच होना चाहिए। इधर डाक्टर नीलेश विश्वकर्मा का कहना है कि वह घटना के दौरान भोपाल में था। नर्स के हवाले से उन्होंने बताया कि रोहित इंजेक्शन में दवाई भरकर लाया था और नर्स से इंजेक्शन लगाने की बात कही तो नर्स ने मना कर दिया। इसके बाद उसने स्वयं इंजेक्शन लगाया था।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local