विदिशा(नवदुनिया प्रतिनिधि)।

कोरोना के बढ़ते मामलों ने विवाह की तैयारियों में जुटे परिवारों को चिंता में डाल दिया है। उन्हें इस बात का भय सताने लगा है कि कहीं फिर से लॉकडाउन की स्थिति नहीं बन जाए। इसी चिंता के चलते उन्होंने खरीदारी भी तेज कर दी है जिससे बाजार भी गुलजार हो गया है। व्यापारियों की माने तो चार से पांच करोड़ रूपये का रोज व्यापार हो रहा है।

बता दें कि धनारस लगने के कारण पिछले एक माह से विवाह कार्यक्रमों पर रोक लगी हुई थी। 19 जनवरी से शुरू होने जा रहे विवाहों को लेकर लोगों ने खूब सारी तैयारियां कर रखी थी, लेकिन जिले में बढ़ रहे कोरोना के मरीजों के कारण वह असमंजस में हैं। पशु चिकित्सक डॉ. नरेंद्र शुक्ला का कहना है कि 20 जनवरी को उनकी बेटी गरिमा शुक्ला का रीवा निवासी प्रभांशु त्रिपाठी से विवाह होना तय हुआ है। उन्होंने तमाम तरह की तैयारियां कर रखी हैं। 600 आमंत्रण कार्ड छपवाए हैं, लेकिन सरकार द्वारा विवाह कार्यक्रमों में 250 लोगों की संख्या तय कर देने से अब उन्हें यह तय करने में मुश्किल हो रहा है कि विवाह में कितने कार्ड बांटे, क्योंकि जिस तरह से शहर में रोज तेजी से कोरोना मरीज निकल रहे हैं हो सकता है कोई और परिस्थिति बन जाए। हालांकि उन्होंने सभी तरह की खरीदारी आदि कर ली है। वरिष्ठ व्यवसाई घनश्याम बंसल बताते हैं कि धनारकों में पहले बहुत ही कम लोग खरीदारी करते थे, लेकिन इस साल खासकर लग्नसरा वाले परिवारों में तेजी से खरीदी हो रही है। जिसके चलते उन्हें देर रात तक व्यापार करना पड़ रहा है। इधर गार्डन संचालक ऋषि जालोरी का कहना है कि लोगों में संख्या को लेकर असमंजस बना हुआ है। उन्हें लग रहा है कि कोरोना के मरीज बढ़े तो संख्या और कम हो सकती है। उन्होंने फिलहाल फरवरी तक की ही बुकिंग की है।

एक माह हो सकेंगे विवाह

विवाह भी 19 जनवरी से शुरू होकर 19 फरवरी तक चलेंगे। ज्योतिषचार्य पंडित संजय पुरोहित ने बताया के इस एक माह में 17 दिन विवाह के मुहूर्त हैं। इसके बाद 21 फरवरी से गुरू अस्त हो जाने के कारण मांगलिक कार्य फिर बंद हो जाएंगे। 24 मार्च को गुरू का उदय तो हो जाएगा, लेकिन सूर्य का मीन राशि में आ जाने के कारण मीनार शुरू हो जाएंगे जो 14 अप्रैल तक चलेंगे। 15 अप्रैल से विवाह शुरू होंगे जो 8 जुलाई तक चलेंगे। इस बीच विवाह के 45 मुहूर्त रहेंगे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local