Corona Vaccination in MP: विदिशा (नईदुनिया प्रतिनिधि)। कोरोना से बचाव के किए जा रहे टीकाकरण में अब विवाद की स्थिति बनने लगी है। शनिवार को नटेरन और शमशाबाद तहसील के पांच गांवों में हंगामा हुआ। जीरापुर में पहले टीका लगवाने को लेकर पुलिसकर्मी की मौजूदगी में गांव के ही दो गुटों में लात-घूंसे और डंडे चल गए। इसके कारण दोपहर में ही टीकाकरण बंद करवाना पड़ा। इसके अलावा चार अन्य केंद्रों पर पुलिस भेजकर हंगामे को शांत करना पड़ा।

जीरापुर के टीकाकरण प्रभारी राजकुमार पाल ने बताया कि शनिवार को पंचायत भवन में बनाए केंद्र पर 350 लोगों को डोज लगनी थी। केंद्र पर सुबह से ही लोगों की भीड़ लग गई थी। दोपहर 12 बजे भीड़ ने हंगामा शुरू कर दिया। इस वजह से करीब पंद्रह मिनट टीकाकरण बंद करना पड़ा। इसके बाद दोपहर करीब दो बजे गांव के ही दो पक्षों के लोग टीका पहले लगवाने को लेकर लड़ पड़े। यह लोग केंद्र के भीतर घुस गए।

कुछ लोगों के हाथों में डंडे भी थे। हंगामा होता देख उन्होंने टीकाकरण बंद कर दिया। तब तक करीब दो सौ डोज लग चुकी थीं। हंगामे के बाद 150 डोज शमशाबाद ले जाकर लगाई गईं। जीरापुर निवासी भूरा मैना का कहना था कि केंद्र पर सुबह से ही गांव के दबंग लोग अपने-अपने लोगों को टीका लगवा रहे थे। जब उन्होंने कुछ लोगों के साथ मिलकर विरोध किया तो वे मारपीट पर उतारू हो गए। हालांकि लोगों के बीच-बचाव के कारण विवाद ज्यादा बढ़ नहीं पाया। इसकी वजह से कोई घायल नहीं हुआ।

इन केंद्रों पर भी हुआ हंगामा

शनिवार को नटेरन और शमशाबाद में 16 केंद्र बनाए गए थे। इन केंद्रों पर पांच हजार लोगों के टीकाकरण का लक्ष्य रखा था। अधिकांश केंद्रों पर लक्ष्य से ज्यादा भीड़ रही। एसडीएम प्रवीण प्रजापति ने बताया कि ढाढोंन में ग्रामीणों ने पड़ोसी गांव नकदा के लोगों को टीका नहीं लगाने को लेकर हंगामा किया। इस दौरान लोग 10 डोज छिपाने को लेकर सरकारी अमले से ही उलझ पड़े। इसी तरह बरखेड़ा जागीर, वर्धा, बाढ़ेर में हंगामे के बाद पुलिस भेजी। पुलिस के पहुंचने के बाद इन गांवों में टीकाकरण हो पाया।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

NaiDunia Local
NaiDunia Local