विदिशा(नवदुनिया प्रतिनिधि)।

कोरोना की तीसरी लहर की आहट हो गई है, ऐसे में कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रोन की पहचान के लिए अब प्रत्येक पॉजिटिव सैंपल की जीनोम सिक्वेंसिंग की जाएगी। हालाकि पिछले डेढ़ माह से एक भी कोरोना संक्रमित जिले में नहीं मिला है। जबकि इससे पहले मिले संक्रमितों में वैरिएंट की पहचान करने के लिए 101 मरीजों की रिपोर्ट जीनोम सिक्वेंसिंग के लिए दिल्ली भेजी गई थी जिसमें 25 फीसद मरीजों में डेल्टा वैरिएंट मिलने की पुष्टी हुई है।

कोरोना की दूसरी लहर ने जिले में सबसे ज्यादा तबाही मचाई थी। उस समय मरीजों में कोरोना का डेल्टा वैरिएंट पाया गया था, डेल्टा से ज्यादा तेज अब ओमिक्रोन को बताया जा रहा है। ऐसे में जिले में अब कोरोना को लेकर और भी सतर्कता बरतने की जरूरत है। पिछले 6 माह में पॉजिटिव 101 लोगों की रिपोर्ट जीनोम सिक्वेंसिंग के लिए एनसीडीसी यानि नेशनल सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल दिल्ली भेजी गई थी जिसमें से 24 लोगों में डेल्टा और 2 संक्रमितों में डेल्टा प्लस वैरिएंट की पहचान की गई। विदिशा जिले में दूसरी लहर के दौरान डेल्टा वैरिएंट ही ज्यादा खतरनाक रहा था। जिला महामारी अधिकारी डॉ शोएब खान बताते हैं कि जिले से प्रत्येक पॉजिटिव मरीज की रिपोर्ट जीनोम सिक्वेंसिंग के लिए भेजी जाती है ताकि ये पता लगाया जा सके कि कोरोना का कौनसा वैरिएंट जिले में ज्यादा है। पिछले रिपोर्ट के अनुसार डेल्टा सबसे ज्यादा मरीजों में मिला। हालाकि कुछ समय से कोरोना का एक भी मरीज नहीं मिला है लेकिन जब भी मरीज पाया जाएगा उसमें वैरिएंट की पहचान कराई जाएगी।

पांच गुना तेजी से फैलता है ओमिक्रोन

जिला महामारी अधिकारी डॉ शोएब खान बताते हैं कि अब तक देश में ओमिक्रोन वैरिएंट नहीं आया है, अक्रीका में ये फैल रहा है उसके आधार पर ये बताया जा रहा है कि ये डेल्टा से पांच गुना ज्यादा तेजी से फैलता है। हालाकि डेल्टा के मुकाबले इसमें मृत्यू दर कम बताई जा रही है। लोगों को डरने की जरूरत नहीं है यहां पहले से स्वास्थ्य सुविधाएं बेहतर हुईं हैं वैक्सीन से हमें मजबूती भी मिली है। बस सावधानी बरतें, मास्क लगाएं, वैक्सीन के दोनों डोज लें और यात्रा करने से बचें।

विदेश से लौटे 6 लोगों के लिए सैंपल

कोरोना के नए वैरिएंट को देखते हुए विदेश से आने वालों की जांच हो रही है। बुधवार को 6 लोग विदेशा से लौटे जिसमें दो शमशाबाद और चार विदिशा के शामिल हैं। ये लोग अमेरिका, दुबई, दोहा से आए हैं। सभी लोगों के गुरुवार को सैंपल लिए गए हैं इनकी रिपोर्ट आज आएगी। इससे पहले नवंबर में 21 लोग विदेश से लौटे थे जिनमें एक यूके से आया था जहां ओमिक्रोन फैल रहा है। हालाकि सभी लोगों के सैंपल निगेटिव थे कोई संक्रमित नहीं निकला था। पूरे जिले में रोजाना 800 से 900 सैंपल लिए जा रहे हैं फिलहाल किसी में कोरोना नहीं निकला है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local