खबर का असर

गंजबासौदा। जय स्तंभ चौराहे पर हो रहे गड्ढे वाहन टकराने से होता है विवाद इस खबर को नवदुनिया ने अपने 14 जून के अंक में आमजन के लिए प्रमुखता से प्रकाशित किया था। इस खबर में शहर के व्यस्ततम चौराहे जयस्तंभ कि रोटरी के पास लगातार सड़क पर हो रहे गड्ढों का आकार बढ़ता ही जा रहा है। इन गड्ढों से निकलते समय वाहन चालक अपने वाहन की गति को धीमा करते हैं उसी समय पीछे से आने वाला वाहन चालक आगे खड़े वाहन चालक की बाइक से टकरा जाता है और विवाद की स्थिति बन जाती है। यह 1 दिन का किस्सा नहीं है आए दिन गड्ढों के कारण चौराहे पर विवाद हो रहे थे। शहर व्यस्तम चौराहा होने के चलते दिन भर चौराहे पर ट्रैफिक का दबाव रहता है। इस खबर के प्रकाशित होने के बाद शुक्रवार को नगर पालिका ने उक्त चौराहे की रोटरी के पास सड़क के गड्ढों को भर दिया है। हालांकि नगर पालिका ने उन गड्ढों में सीसी करने की जगह डामर और गिट्टी डाल दी है जबकि बारिश का मौसम सिर पर है और डामर पानी का दुश्मन माना जाता है। बारिश के दौरान यह गिट्टी ज्यादा दिन नहीं ठहर पाएगी। फिलहाल कुछ दिनों के लिए सही लोगों को चौराहे से निकलने में आसानी महसूस होगी।

समीक्षा बैठक में मिले निर्देश का नहीं किया पालन

गंजबासौदा। विगत दिनों पहले तहसील के पटवारी सभाकक्ष में एसडीएम प्रकाश नायक ने बारिश के मौसम को देखते हुए संबंधित विभागों के अधिकारियों के साथ एक बैठक आयोजित की थी। जिसमें सभी विभागों को एसडीम ने बारिश के मौसम से निपटने की तैयारी के निर्देश दिए थे। उस बैठक में नगर पालिका, बिजली विभाग, खाद्य विभाग के अधिकारियों को एसडीएम प्रकाश नायक ने सख्त निर्देश दिए थे कि बारिश से पहले मौसम से निपटने की तैयारी कर ले। बैठक के दौरान एसडीएम ने विद्युत मंडल के अधिकारियों को निर्देश दिए थे कि बारिश के समय में ऐसा ना हो कि जरा सी बारिश हो और शहर में घंटों बिजली गुल रहे ऐसी व्यवस्था नहीं होनी चाहिए। लेकिन कुछ दिनों में ही अधिकारी एसडीएम के निर्देश को भूल गए। गुरुवार की शाम को हुई झमाझम बारिश के दौरान ही शहर के अनेक स्थानों पर बिजली गुल हो गई थी काफी समय तक नहीं आई। जबकि पानी ही बंद हो गया था इससे ऐसा लगता है कि एसडीम के निर्देशों को बिजली विभाग के अधिकारियों ने गंभीरता से नहीं लिया।

टैंकर से पानी भरते समय युवक को लगा करंट

गंजबासौदा। ग्राम बरेठ में एक युवक की मौत उस समय हो गई जब वह टैंकर से पानी भरने के लिए गया था। वहा अपने साथ पानी भरने के लिए मोटर लेकर गया था। उसी समय युवक को करंट लग गया। उसके परिजन उसे राजीव गांधी अस्पताल लेकर आए यहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। जानकारी के अनुसार शुक्रवार दोपहर को गांव बेरठ में ग्रामीणों को पानी उपलब्ध कराने के लिए टैंकर आया हुआ था। कई लोग टैंकर से पानी भरने पहुंचे उसी समय 25 वर्षीय अमित पुत्र उमाशंकर बबेले टैंकर से पानी भरने के लिए गया था। बताया जाता है कि अमित अपने साथ मोटर लेकर टैंकर से पानी भरने गया था। उसी समय मोटर से करंट लग गया। उसके बाद परिजन उसके बासौदा अस्पताल लेकर आए जहां पर डॉक्टर ने जांच के बाद उसे मृत घोषित कर दिया। शाम के समय पीएम किया गया।

कार्यशैली में लाए सुधार वरना होगी सेवा समाप्ति

फोटो-12

गंजबासौदा आंगनवाड़ी का निरीक्षण करती परियोजना अधिकारी-नवदुनिया।

गंजबासौदा। ग्रामीण क्षेत्र और शहरी क्षेत्र में आंगनवाड़ियों में पदस्थ कार्यकर्ताओं द्वारा के अपने कार्य के प्रति कई प्रकार की अनियमितताएं की जाती हैं। इन लापरवाही की जांच करने के लिए समय-समय अधिकारी आंगनबाड़ियों का निरीक्षण करते हैं। शुक्रवार को बासौदा परियोजना अधिकारी कोमल उपाध्याय ने ग्राम पड़रिया, डाबर, ऊहर,अंबा नगर, टपरा का निरीक्षण किया। इस दौरान परिजयोजना अधिकारी ने डाबर केन्द्र का औचक निरीक्षण किया जहां पर अधिकारियों को कई प्रकार की खामियां मिली। आंगनवाड़ी में खामियां मिलने पर डाबर उप केंद्र की कार्यकर्ता रेशमा खा नोटिस जारी किया गया। केंद्र पर कई प्रकार की खामियां अधिकारियों को मिली वहीं कार्यकर्ता को 3 दिन में कार्यशैली सुधारने का मौका दिया गया। परियोजना अधिकारी ने कहा कि यदि 3 दिन में कार्यशैली में सुधार नहीं हुआ तो सेवा समाप्त की जाएगी। लाल पठार पड़रिया सरपंच से मिलकर मॉडल आंगनवाड़ी का काम शुरू करने की बात कही।