फोटो01- स्व. विशनजी भाई की सौ वे जन्म दिवस के मौके पर जरूरतमंदों को वस्त्र वितरित किए गए।

गंजबासौदा। नवदुनिया न्यूज

नागरिक सेवा समिति के संस्थापक एवं पूर्व नपाध्यक्ष स्व. विशनजी भाई के 100वे जन्म दिवस के मौके पर गत दिवस मानस भवन में सादा समारोह आयोजित कर करीब 1400 हितग्राहियों महिलाओं एवं 600 पुरुषों को कपड़े, साड़ियां, बिस्किट एवं स्वच्छता अभियान के तहत कपड़े से निर्मित 500 झोले वितरित किए गए। इससे पहले नागरिक सेवा समिति के कार्यालय पर श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया। जहां स्व. विशनजी भाई की प्रतिमा पर पुष्प माला चढ़ाकर दीप दान किया गया। इस अवसर पर नागरिक सेवा समिति के अध्यक्ष एवं समाज सेवी कांतिभाई ने कहा कि साल 1919 को श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के मौके पर भाईजी का जन्म हुआ था और 2019 में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर उनका 100वां जन्म दिवस मना रहे हैं। भाईजी ने 35 सााल पहले नागरिक सेवा समिति की नीव रखी थी। समिति द्वारा गर्मियों के मौसम में हर साल रेलवे स्टेशन पर यात्रियों को ठंडा पानी पिलाया जाता है। इसके साथ प्रतिदिन गरीबों को भोजन वितरित किया जाता है। यह सेवा 35 साल से निरंतर चल रही है। भाईजी ने हमेशा यही सिखाया है कि अपनी कमाई का 10 प्रतिशत दान करना चाहिए। समिति के सुरेश तनवानी ने कहा कि समिति द्वारा वर्ष में 6 बार नेत्र शिविर लगाए जाते हैं। इससे क्षेत्र ही नहीं आसपास के हजारों नेत्र रोगी लाभांवित हो चुके हैं। वरिष्ठ समाजसेवी डॉक्टर विमलचंद ओसवाल ने कहा कि भाईजी की प्ररेणा से ही समाजसेवा में नगर पूरे प्रदेश में अग्रणी है। यह नगर भामाशाहों की नगरी कहलाने लगी है। समिति के तेजनारायण श्रीवास्तव ने कविता के माध्यम से भाईजी को श्रद्धांजलि दी। इसके बाद समिति द्वारा गरीबों को भोजन वितरित करने के उपरांत मानस भवन में कार्यक्रम आयोजित कर 1400 महिलाओं को साडिय़ां, 600 पुरुषों को वस्त्र, कपड़े से निर्मित 500 झोले, बच्चों को बिस्किट के पैकेट वितरित किए गए। इस मौके पर समिति के योगेश शाह, शंभुदयाल शर्मा, दमयंती बेन, महेन्दसिंह सूर्यवंशी, कृपाराम दीक्षित, सत्यपाल तनवानी, राजेश नेमा, जयेश शाह, मयंक टांक, राजेंन्द्र जैन, तुलसीराम नामदेव, सुरेश ताम्रकार, विनीत अरोरा, लक्ष्मी शर्मा, रवि चौरसिया सहित बड़ी संख्या में सदस्य उपस्थित थे।

000

मूसलधार बारिश से भीगा अंचल, औसत बारिश के करीब पहुंचा

सुबह 5 बजे से दिनभर कभी तेज तो कभी रिमझिम होती रही बारिश

फोटो क्रमांक 02- बस स्टैंड की सड़क जहां सड़क कम गड्ढे ज्यादा हैें।

फोटो क्रमांक 03- बारिश के कारण तिंरगा बस स्टैंड बायपास पर लगे सब स्टेशन पर भरा पानी।

फोटो क्रमांक 04- ग्राम बरखेड़ा में खेतों में बारिश के पानी से फसलों को हो रहा है नुकसान।

गंजबासौदा। नवदुनिया न्यूज

शनिवार की सुबह 5 बजे से ही अंचल में बारिश का सिलसिला एक बार पुनः चालू हो गया जो दोपहर तक चलता रहा। वहीं ग्रामीण अंचलों में भी दिनभर बारिश होती रही। सौसम का पूर्वानुमान बताने वाली बेवसाइटों की मानें तो आगामी 1-2 दिन अच्छी बारिश के आसार हैं। अगर बारिश का दौर यूं ही चलता रहा तो इस साल अगस्त माह में ही औसत बरसात का आंकड़ा पार कर जाएगा। अब तक इस साल 100 सेमी से अधिक बारिश हो चुकी है। ग्रामीण अंचलों में खेतों में बारिश के पानी की सही निकासी न होने के कारण फसलों के गलने की शिकायतें भी मिलनी शुरू हो गई है। इस महीने हुई अच्छी बारिश के कारण जलाशयों में पानी लबालब भर चुके हैं। जिसके कारण आगामी साल गर्मियों के दिनों में पानी की कमी की समस्या नहीं आएगी। सुबह से शुरू हुई बारिश के कारण नागरिकों को रोजमर्रा के कामों के लिए परेशानी का सामना करना पड़ा। बारिश के कारण नगर की निचली बस्तियों में पानी भर गया। ईदगाह रोड, सिरोंज चौराहे, पचमा रोड, सुभाष निकेतन वाली गली, नई बस्ति, इंद्रानगर सहित अनेक जगहों पानी भरने से रहवासियों को कुछ हद तक का परेशानी उठानी पड़ी। सुबह से ही बारिश होने से जन्माष्टमी के दूसरे दिन मंदिरों में जाने वाले दर्शनाथियों की संख्या भी काफी कम रही। दोपहर के समय पानी खुलने के बाद श्रद्धालु मंदिरों में आते-जाते नजर आए। बारिश के साथ-साथ माह के आखिरी शनिवार को कई व्यापारिक संगठनों द्वारा प्रतिष्ठान बंद होने की वजह से बाजारों में रौनक भी कम रही। बारिश के कारण नगर के मध्य बहने वाली पारासरी नदी के जल स्तर भी बढ़ गया वहीं नगर के अलावा ग्राम उदयपुर, त्योंदा, बरेठ, सिरनोटा, घटेरा, बागरोद, अंबानगर सहित अनेक ग्रामीण अंचलों में दिन भर बारिश होने से ग्रामीणों को रोजमर्रा के कामों के लिए परेशान होना पड़ा।

गड्ढे बन रहे वाहन चालकों के लिए मुसीबत

नगर के जोड़ने वाले बायपास मार्गों की हालात खराब होने से वाहन चालकों को काफी परेशानी उठानी पड़ रही है। तिरंगा चौक बायपास रोड की सालों से हालत खस्ता है। सड़क पर सैकड़ों जगह एक फीट तक गहरे गड्ढे हो गए हैं जिनमें इस समय बरसात का पानी भर जाने से वाहन चालक के पहिए उसमें समा जाते हैं। ऐसे में खासकर दोपहिया वाहन चालकों को काफी परेशानी उठानी पड़ रही है। हर दिन इस सड़क पर गाड़ी फिसलने की शिकायतें मिलती हैं। कई बार तक वाहन चालकों की गाड़ी तक खराब हो जाती है। ऐसी ही स्थिति नए बस स्टैंड क्षेत्र की सड़क की है। यहां पर सड़क कम गड्ढे ज्यादा हैं। पूरे नए बस स्टैंड की हालत इतनी ज्यादा खराब है कि यहां पर बारिश में सड़क छोटे-छोटे तालाब में तब्दील हो जाते हैं। वहीं दूसरी तरफ नगर के मुख्य मार्ग सावरकर चौक की सड़क पर भी गहरे गड्ढे हो गए हैं। यहां से वाहन चालकों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। यहां पैदल चलने वाले राहगीरों के कपड़े खराब होते हैं। इसके बाद भी लोक निर्माण विभाग द्वारा अब तक उक्त सड़क के गड्ढों पर ध्यान नहीं दिया जा रहा है और न ही इन सड़कों के गड्ढे भरे गए हैं। इससे आए दिन वाहन चालक घायल हो रहे हैं।

किसान खेतों में पानी की निकासी पर दें विशेष ध्यान

नगर सहित अंचलों में हो रही अच्छी बारिश से जहां फसलों के लिए वरदान साबित हो रही है। वहीं दूसरी तरफ अनेक खेतों में निचली जगह व पानी निकासी की उचित व्यवस्था न होने के कारण फसलों के गलने की शिकयतें आनी शुरू हो गई है। ग्राम बरखेड़ा के किसान शिवराजसिंह रघुवंशी, थानसिंह, दीपक भार्गव, बसंत भार्गव, अवतार सिंह ने बताया कि ग्राम बसरिया, कालापाटा, करोंदा, डफरयिाई, रतनखेडी आदि गांवों में सोयाबीन, उड़द की फसल गलने से खराब हो गई है। इन किसानों ने प्रशासन से सर्वे कराने की मांग की है। वहीं कृषि विभाग द्वारा किसानों को सलाह दी जा रही है कि वह समय समय पानी की निकासी की उचित व्यवस्था करते रहें। जिससे फसलों के गलने की स्थिति न बने।

000

कान्हा के जन्मोत्सव पर कहीं भजन संध्या तो कहीं हुए जगराते

फोटो क्रमांक 05- श्रीकृष्णजन्माष्टमी पर पन्नाा मार्केट में आयोजित हुई भजन संध्या के दौरान सजाई राधा-कृष्ण की झांकी।

गंजबासौदा। नवदुनिया न्यूज

नगर में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का पर्व बड़े ही धूमधाम से मनाया गया। रात में 12 बजे कान्हा के जन्मोत्सव के चलते देर रात तक मंदिरो में पूजन अर्चन भजन, गीतों एवं बधाइयों के उत्सव आयोजित किए गए। बीति रात इस मौके पर नगर में अनेक स्थानों पर भजन संध्या का आयोजन की गई। गणेश पुरा स्थित भैरव बाबा की बगिया में जगराते का आयोजन किया गया जो सुबह 5 बजे तक चलता रहा। जगराते में स्थानीय कलाकारों द्वारा भगवान श्री कृष्ण के भजनों की आकर्षक प्रस्तुति दी गई। सावरकर चौक सिथत धनुषधारी मंदिर, मुरलीधर छेल बिहारी मंदिरों में देर रात तक भजनों का आयोजन किया गया। नगर के पन्नाा मार्केट के पास भजन संध्या का आयोजन किया गया। जिसमें भोपाल से आए गीतकार खुशबू व होशंगाबाद से आए सागर शरण द्वारा कन्हैया के भजनों की आकर्षक प्रस्तुति दी गई। इन कलाकारों द्वारा मैया करादे मेरो व्याह, अरे द्वार पालों कन्हैया से कह दो, राधा रानी हमे ये बता दे जरा सहित देश भक्ति के गीतों की प्रस्तुति दी गई। इसके अलावा राधा कृष्ण की झांकी भी सजाई गई। इस अवसर पर पन्नाा माकेट समिति के गौरव पटवा, नरेंद्र सेन, शेरू राजपूत, प्रवेश जैन, गोलू रघुवंशी, पुष्पेंद्र अतरेजी, अरूण रघवुंशी सहित बड़ी संख्या भक्तगण उपिस्थत थे। मंच सचालन धमेंद्र जैन, रिंकू विश्वकर्मा ने किया। लाल पठार स्थित भगवान गिरीराज मंदिर पर शु्‌क्रवार की रात्रि से लेकर शनिवार देर रात तक भगवान के दर्शनों के लिए भीड़ लगी रही। कान्हा के जन्मोपरांत दूसरे दिन सुबह बारिश होने के कारण मंदिरों मे श्रद्धालुओं की संख्या कम रही लेकिन दोपहर में मौसम खुलने के बाद मंदिर दर्शन के लिए भक्तगण पहुंचे। कई मंदिरों में दूसरे दिन मटकी फोड़ का आयोजन किया गया। हरे कृष्णा प्रचार समिति द्वारा बरेठ रोड स्थित केशव वाटिका में शनिवार को श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का पर्व मनाया गया। देर शाम से हरे कृष्णा संकीर्तन के साथ-साथ भगवान का पंचामृत से अभिषेक पूजन कर शनिवार मध्य रात्रि को भगवान का जन्म उत्सव मनाया गया। इस मौके पर भगवान को 556 प्रकार के भोग लगाए गए। हरे कृष्णा प्रचार समिति से जुड़े सुनील कृष्ण, राजेश अग्रवाल ने बताया कि रविवार को दोपहर में महाप्रसादी का वितरण एवं मटकी फोड़ प्रतियोगिता का आयोजन किया जाएगा।

000

कचरे के ढेर से वार्डवासियों को हो रही परेशानी

गंजबासौदा। नगर के गीता टाकीज के आसपास कचरे का ढेर लगा होने से वार्डवासियों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। नियमित साफ सफाई न होने के कारण यहां से गंदगी का अंबार लगा है जिससे यहां सूअर, कुत्ते आदि मवेशी डेरा जमाए बैठे रहते हैं। आसपास के दुकानदारों एवं रहवासी कचरे के ढेर एवं गंदगी व दुर्गंध से परेशान हैं। प्रिटिंग व्यवसायी अनिल शर्मा ने बताया कि दुकान से सटकर ही लोगों ने कूड़ाघर बना लिया है। हालात यह हैं कि पास ही बने पेशाबघर में सूअर डेरा डाले हुए हैं गंदगी और बदबू से दुकान पर बैठना तक मुश्किल हो जाता है नियमित साफ-सफाई न होने यहां गंदगी का ढेर लग जाता है। उन्होंने नपा से नियमित साफ-सफाई कराने की मांग की है।

000

एटीएम में नहीं रहते रुपए, लोगों को होती है परेशानी

गंजबासौदा। रे्‌ल्वे स्टेशन क्षेत्र के आसपास लगभग आधा दर्जन से अधिक बैंकों के एटीएम लगे हैं, लेकिन कभी सर्वर खराब होने या उनमें पैसे न होने की वजह से उपभोक्ताओं को परेशानी उठानी पड़ती है। रेलवे स्टेशन नजदीक होने के कारण अक्सर रेलवे यात्री एटीएम का उपयोग करते हैं, लेकिन उन्हें निराशा ही हाथ लगती है। इसी तरह एसबीआई बैंक में नकद रुपए जमा करने वाली मशीन खराब पड़ी हुई है। ऐसे में बैंक द्वारा उपभोक्ताओं को सुविधा देने की बात मजाक ही नजर आती है।

000

फिल्मों के अभिनेता नहीं क्रांतिकारी हमारे असली नायकः कादरी

फोटो क्रमांक 06- कार्यक्रम के दौरान उपस्थित बच्चे।

गंजबासौदा। नवदुनिया न्यूज

बहुत कम आयु में ही अपना तन, मन, धन मातृभूमि को अर्पण करने वाले क्रांतिकारी वीर ही हमारे असली नायक हैं न कि फिल्मों के अभिनेता। इसीलिए बच्चों आप असली नायकों का अनुसरण करो न कि नकली हीरो का। यह बात भारत रत्न डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम सभा कक्ष गमाखर में आयोजित कार्यक्रम में बालसभा के अंतर्गत अमर शहीद राजगुरु की जयंती के अवसर पर योग गुरू सैयद शफाकत हुसैन कादरी ने कही। उन्होंने ने कहा हमें असली नायकों भगतसिंह, चंद्रशेखर आजाद, अशफाक उल्ला खान, सुखदेव, राजगुरू को अपना आदर्श मानना चाहिए। किसी फिल्म के एक्टर को नहीं। इस अवसर पर सुरेश अहिरवार ने बताया शिवराम हरि राजगुरु का जन्म 24 अगस्त सन 1908 में पुणे जिला के खेडा गांव में हुआ था। 6 वर्ष की आयु में पिता का निधन हो जाने से बहुत छोटी उम्र में ही ये वाराणसी विद्याध्ययन करने एवं संस्कृत सीखने चले गए थे। संजय रघुवंशी ने बताया वाराणसी में विद्या अध्ययन करते हुए राजगुरु का संपर्क अनेक क्रांतिकारियों से हुआ। चंद्रशेखर आजाद से इतने अधिक प्रभावित हुए कि उनकी पार्टी हिन्दुस्तान सोशलिस्ट रिपब्लिकन आर्मी से तत्काल जुड़ गए। आजाद की पार्टी के अंदर इन्हें रघुनाथ के छद्म नाम से जाना जाता था राजगुरु के नाम से नहीं।चंद्रशेखर आजाद, सरदार भगत सिंह और यतीन्द्रनाथ दास आदि क्रांतिकारी इनके मित्र थे।

23 मार्च 1931 को इन्होंने भगत सिंह तथा सुखदेव के साथ लाहौर सेंट्रल जेल में फांसी के तख्ते पर झूलकर अपने नाम को हिन्दुस्तान के अमर शहीदों की सूची में अहमियत के साथ दर्ज करा दिया। इस अवसर पर शाला प्रबंधक समिति अध्यक्ष नरेश रघुवंशी, समाजसेवी राजेंद्र सिंह बबलेश महाराज सहित अनेक लोग उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन बाल कैबिनेट के प्रधानमंत्री राजतिलक अहिरवार ने आभार राष्ट्रपति फैजान मंसूरी ने व्यक्त किया।