लीड़ खबर

क्रॉसर-नाले नालियों अतिक्रमण होने की वजह से नहीं हो पाती पानी की निकासी

गंजबासौदा। नवदुनिया न्यूज

बीते एक महीने से बासौदा तहसील में झमाझम बारिश का दौर जारी है वहीं पिछले 1 हफ्ते के दौरान हुई मूसलधार बारिश आम लोगों, किसानों और व्यापारियों के लिए आफत की बारिश साबित हुई है। लगातार बारिश की वजह से शहर की कई निचली बस्तियों में रहने वाले लोगों के घरों में दुकानदारों की दुकानों में बारिश का पानी प्रवेश कर गया जिससे बाढ़ के हालात बन गए। गुरुवार को भी झमाझम बारिश के दौरान नेहरू चौक सहित अन्य क्षेत्र में बारिश का पानी भरा गया। इससे काफी लोगों का नुकसान हुआ है। शहर में बाढ़ के हालात बनने का मुख्य कारण अब तक नाले नालियों पर अतिक्रमण होना सामने आया है।

मालूम हो कि शहर के अधिकांश क्षेत्रों में नपा द्वारा काफी सालों पहले जल निकासी के लिए गलियों में नालियों का निर्माण किया था और शहर के मुख्य सड़कों के किनारे जल निकासी के लिए जो बड़े-बड़े नाले नालियों का निर्माण किया गया था। वर्तमान समय में कई लोगों द्वारा नाले नालियों पर अतिक्रमण कर लिया गया है जिससे बारिश के सीजन में जल निकासी में परेशानी हो रही है और बारिश का पानी नालियों में हुए अतिक्रमण की वजह से पूरा पानी सड़कों पर आ जाता है। यही हाल शहर के सभी वार्डों का है वार्ड में बनी नालियां कुछ कचरे के कारण चौक हैं तो कईयों पर लोगों ने अतिक्रमण कर रखा है नाले और नालियों पर अतिक्रमण की वजह से पिछले दिनों हो रही बारिश से उसका पानी तेज भाव नहीं हो पा रहा है। जिससे शहर के कई क्षेत्रों में बाढ़ की स्थिति निर्मित हो गई है इन दिनों लगातार बारिश का दौर जारी है बारिश की वजह से बेतवा ,पाराशरी और शहर के आसपास से गुजरने वाले नाले उफान पर चल रहे हैं। नदियों में बढ़ा जल स्तर अब शहर में प्रवेश कर रहा है। उसका पानी अभी कई वार्डों में पड़े खुले मैदान में भरा हुआ है।

इतना ही नहीं तहसील परिसर, विश्राम गृह और अन्य सरकारी दफ्तरों और सरकारी स्कूलों के परिसर में बारिश का पानी भरा हुआ है। इन सभी जगह पर और शहर में आई बाढ़ का कारण जल निकासी ही सामने आया है। शहर के मुख्य सड़क बरेठ रोड, मिल रोड़, रेलवे स्टेशन रोड, सिरोंज चौराहा सहित कई सड़कों पर नगर पालिका द्वारा बनाए गए नालों पर कई लोगों द्वारा अतिक्रमण कर लिया गया है। जिससे समय-समय पर नगरपालिका के सफाई कर्मचारी इन नालों की सफाई नहीं कर पाते और बारिश के सीजन में हुई बारिश के दौरान बारिश का पानी इन नाले नालियों से तेज गति से नहीं निकल पाता जिससे बाढ़ की स्थिति निर्मित हो जाती है।

1 जून से अब तक बासौदा तहसील में 1795.8 एमएम बारिश हो चुकी है बीते 24 घंटे में 114 एमएम बारिश दर्ज हुई जो पूरे जिले में सबसे अधिक बारिश बासौदा तहसील में ही अब तक हुई है।

बॉक्स

भीगा हुआ सामान सुखा रहे लोग

गुरुवार को हुई मूसलधार बारिश और उससे पहले कई दिनों से हो रही बारिश के चलते शहर की निचली बस्तियों में बारिश का पानी आम लोगों के घरों में प्रवेश कर गया बाढ़ के पानी से कई लोगों के घर की गृहस्थी खाने पीने का सामान खराब हो गया। वहीं गुरुवार को नदी किनारे बस्तियों में रहने वाले लोगों को स्थानीय प्रशासन ने बाढ़ राहत केंद्र में शिफ्ट किया। शुक्रवार को कई लोग घर में भरे पानी को फेंकते हुए नजर आए तो कुछ लोग घरों के सामान को शुक्रवार की निकली धूप में सूखाते हुए नजर आए अब सभी बाढ़ पीड़ित लोग सरकार से मुआवजे की आस लगाए हुए हैं।

गंजबासौदा-फोटो06

गंजबासौदा। मुख्य सड़क किनारे दुकानदारों ने नालों पर किया अतिक्रमण।

गंजबासौदा-फोटो07

गंजबासौदा। गुरुवार को हुई बारिश के दौरान इस तरह था मुख्य सड़क का नजारा।

0000000000000000000000000000000000000

बाढ़ से प्रभावित व्यापारियों ने मुआवजे के लिए सौंपा ज्ञापन

गंजबासौदा। सिरोंज चौराहे पर स्थित नाला गुरुवार को पूरे दिन हुई बारिश के कारण उफान पर आ गया था। नाले के उफान पर आ जाने से सिरोंज चौराहे रहवासियों के घरों और दुकानों में बारिश का पानी भरा गया था। इसको लेकर शुक्रवार को व्यापारियों ने मिलकर एसडीएम प्रकाश नायक को मुआवजे की मांग को लेकर ज्ञापन सौंपा। जिसमें व्यापारियों ने बताया कि दिन में हुई बारिश के दौरान पूरे क्षेत्र में कमर कमर तक बारिश का पानी भरा गया था जिससे कई व्यापारियों और आम लोगों का काफी नुकसान हुआ है। व्यापारियों ने दिए ज्ञापन में मांग की है कि तुरंत क्षेत्र में बाढ़ प्रभावित लोगों का सर्वे कराकर मुआवजा देने की का कार्रवाई की जाए। और जिन लोगों व व्यापारियों का नुकसान हुआ है उन्हे राहत राशि देने की कृपा करें। ज्ञापन में व्यापारियों ने बताया कि बारिश के पानी से रोहित किराना स्टोर्स का 50 हजार,अरूण ब्रदर्स का दस हजार, संजय बूट हाउस का दस हजार, आशीष मिष्ठान भंडार का बीस हजार, , प्रशिक ट्रेडर्स का 50 हजार, जाट किराना 40 हजार इन लोगों के अलावा अन्य लोगों का भी काफी नुकसान हुआ है इसलिए हमारी मांग है कि सभी का सर्वे तुरंत कराकर सभी को मुआवजा दिलाया जाए।

गंजबासौदा-फोटो05

गंजबासौदा। एसडीएम प्रकाश नायक को ज्ञापन देते सिरोंज चौराहे के व्यापारी।

0000000000000000000000000000000000000

गंजबासौदा-फोटो04

गंजबासौदा। शुक्रवार से पितृपक्ष की शुरुआत हो गई है सुबह के समय कई लोगों ने नदी के घाट पहुंचकर पितरों को तर्पण किया। नदी के उफान पर रहने के चलते लोगों की संख्या कम रही।

000000000000000000000000