विदिशा (नवदुनिया प्रतिनिधि)। जिले की कुरवाई तहसील मुख्यालय पर स्थित सीएम राइज स्कूल परिसर में मुस्लिम वर्ग की तत्कालीन प्राचार्य शाहिना फिरदौस द्वारा सरकारी खर्च पर चबूतरे को मजार का स्वरूप देने का मामला गरमा गया है। इस मामले में अब जिला शिक्षा अधिकारी अतुल मुद्गल ने तत्कालीन प्राचार्य को निलंबित करने का प्रस्ताव स्कूली शिक्षा विभाग के संचालक को भेज दिया है। इस मामले की जांच के लिए राष्ट्रीय बाल संरक्षण अधिकार आयोग के अध्यक्ष प्रियंक कानूनगो स्कूल का जायजा लेंगे।

जानकारी के अनुसार जिला शिक्षा विभाग के पास स्कूल परिसर में मजार बनाने की जानकारी अगस्त माह के पहले सप्ताह में प्राप्त हो गई थी। शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने इस मामले को छिपाते हुए बीआरसी के माध्यम से गोपनीय जांच कराई और जांच रिपोर्ट संयुक्त संचालक को भेज दी। इसके बाद जिला शिक्षा अधिकारी अतुल मुद्गल ने तत्कालीन प्राचार्य फिरदौस का तबादला कुरवाई से पठारी हायर सेकेंडरी स्कूल में कर दिया। मुद्गल ने बताया कि उन्होंने 31 अगस्त को स्कूल परिसर से मजार का निर्माण हटाने के लिए कलेक्टर को पत्र लिखा था लेकिन अब तक निर्माण नही हटाया गया है। उन्होंने बताया कि इस स्कूल परिसर में एक पुराना चबूतरा बना हुआ है। फरवरी 2022 में प्राचार्य ने स्कूल मरम्मत के लिए मिली सरकारी राशि से इसकी मरम्मत कराई थी और चबूतरे को मजार का स्वरूप दे दिया था। उन्होंने कहा कि स्कूल में राष्ट्रगान कभी बंद नहीं हुआ।

बाल आयोग ने जारी किया नोटिस

राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग के अध्यक्ष प्रियंक कानूनगो ने सीपीसीआर अधिनियम 2005 की धारा 13 के तहत जिला शिक्षा अधिकारी को नोटिस जारी कर जवाब तलब किया है। प्रियंक ने बताया कि वे आज गुरुवार को दोपहर में कुरवाई पहुंचकर स्कूल का जायजा लेंगे। इस दौरान वे स्कूली स्टाफ और विधार्थियों से भी बात करेंगे। इधर, मजार हटाने को लेकर हिंदू संगठन भी जिला प्रशासन को ज्ञापन सौंपेंगे।

Posted By: Lalit Katariya

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close