विदिशा(नवदुनिया प्रतिनिधि)।

जिले में तीन दिनों तक जोरदार वर्षा के बाद शुक्रवार को मौसम खुलने से लोगों को राहत मिली हैं। सुबह हल्की वर्षा के बाद दोपहर में धूप निकली। आसमान साफ होते ही लोग अपने अपने जरूरी काम से बाहर निकले। शाम के समय भुजरियों का जुलूस भी बिना बाधा के निकला। पिछले तीन दिन से लगातार हो रही वर्षा के कारण लोगों का जन जीवन अस्त व्यस्त हो गया था, लोग जरूरी होने पर ही बाहर निकल रहे थे। कई जगह रास्ते तक बंद हो गए थे। नटेरन के पास ग्राम कागपुर में बाह नदी का पानी कम होने पर पुल से आवगमन फिर से शुरू हो सका। गुरुवार दोपहर को यहां पुल से आवगमन शुरू हो गया था लेकिन रात में फिर से पानी आने के बाद बंद हो गया। शुक्रवार सुबह पुल से लगकर पानी बह रहा था हालाकि इस बीच वाहन निकलते रहे। इधर, लगातार वर्षा के कारण शहर से लेकर गांवों तक के रास्ते बदहाल हो गए हैं। विदिशा शहर में सड़कों की हालत खराब हो रही है। जगह जगह गड्ढे होने से लोगों को निकलने में काफी परेशानी हो रही है। रंगई मार्ग, टीलाखेड़ी, डंडापुरा, कागदीपुरा, नीमताल, अस्पताल रोड, सहित अंदरूनी सड़कें गड्ढों में तब्दील हो गई हैं।

बांधों के एक एक गेट खुले हुए हैं

मौसम विभाग ने विदिशा में रेड अलर्ट जारी किया था। शुक्रवार को विदिशा तहसील में 42 और बासौदा में सबसे ज्यादा 79.6 मिली मीटर वर्षा दर्ज की गई। पूरे जिले में अब तक 875 मिमी वर्षा दर्ज हो चुकी है। जिले के आसपास हो रही वर्षा के कारण बांधों के गेट अब भी खुले हुए हैं। जिससे नदियां उफान पर हैं। गुरुवार को तीन बांधों के छह गेट खोले जाने से सभी नदियों का जल स्तर बढ़ गया था। विदिशा के संजय सागर, सगड़ और बघर्रू डेम का एक एक गेट शुक्रवार को भी खुला रहा।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close