विदिशा(नवदुनिया प्रतिनिधि)।

शनिवार को नेशनल लोक अदालत का आयोजन हुआ। जिला न्यायाधीश अचल कुमार पालीवाल ने न्यायालय परिसर में महात्मा गांधी के चित्र पर माल्यार्पण कर शुभारंभ किया। कोरोना के बाद पहला अवसर है जब न्यायालय परिसर में ही लोक अदालत लगी। हालाकि नगर पालिका की लोक अदालत कार्यालय में ही लगी। इस दौरान दोपहर के समय नपा में सर्वर डाउन होने से काफी समस्या हुई। ई नपा पोर्टल पर कर जमा किए जा रहे थे दोपहर डेढ़ बजे करीब सर्वर डाउन हो गया जिससे संपत्ति कर जमा करने आए लोगों को लंबा इंतजार करना पड़ा। वार्ड 16 निवासी लक्ष्‌मीनारायण शर्मा को 3252 सम्पत्ति कर जमा करना था लेकिन सर्वर नहीं होने से मशीन से पैसे जमा नहीं हो सके। उन्होंने सीधे पैसे लेकर रसीद देने को कहा लेकिन कर्मचारी तैयार नहीं हुए। बुजुर्ग ने कहा कि इस समस्या के कारण आज के दिन मिलने वाली विशेष छूट का फायदा उन्हें नहीं मिल पाएगा। हालाकि एक से डेढ़ घंटे बाद स्थिति सामान्य हो पाई। राजस्व उपनिरीक्षक अनिल बिदुआ ने बताया कि सर्वर की समस्या बीच बीच में होती रही लेकिन दोपहर के बाद सब ठीक हो गया था। इस दौरान 35 लोगों ने सम्पत्ति और 21 ने बकाया जलकर जमा किया था। कुल 2 लाख 56 हजार 164 रुपये की राशि मिली है। लोक अदालत के लिए 200 लोगों को नोटिस भेजे गए थे।

34 हजार का जुर्माना नहीं भर पाए बंजारे

न्यायालय परिसर में बिजली कंपनी के स्टाल पर शमशाबाद क्षेत्र तांडा गांव निवासी श्रीचंद बंजारा नोटिस लेकर पहुंचे। उन्होंने बताया कि उनके पास पट्टे की पांच बीघा जमीन है जिस पर कुएं से पिछले साल फरवरी में वे सिंचाई कर रहे थे इसी दौरान बिजली कंपनी के कर्मचारी आ गए और उन्होंने बिजली चोरी का प्रकरण बनाकर 34 हजार रुपये का जुर्माना लगा दिया। उन्होंने सिंचाई के लिए पंप कनेक्शन ले रखा था बस एक छोटी मोटर अतिरिक्त घर के लिए चलाई थी इसके बाद भी इतना जुर्माना लगा दिया जिसे वह नहीं जमा कर सकते। दूसरी तरफ विदिशा खाई रोड निवासी एक उपभोक्ता पर घर में बिजली चोरी का प्रकरण बना और 95 हजार 982 रुपये जुर्माना लगा, उपभोक्ता ने लोक अदालत में छूट का फायदा उठाया और 50 हजार रुपये जमा कर दिए। एई राजीव कुमार ने बताया कि डिवीजन में 3682 लोगों को नोटिस भेजे थे लेकिन कम लोग ही पहुंचे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close