विदिशा। करीब दस साल पहले वर्ष 2009 के चुनाव में विदिशा तहसील के गांव पांझ में सुषमा स्वराज को 90 फीसदी से अधिक वोट मिले थे। जिस पर वे चुनाव जीतने के बाद सबसे पहले ग्राम पांझ पहुंचीं थीं।

गांव पहुंचकर वे इतनी भावुक हो गईं थीं कि जब ग्रामीणों ने चांदी का मुकुट पहनाया तो उन्होंने इस गांव को संसदीय क्षेत्र के मुकुटमणि का खिताब दिया था। पहले चुनाव में परिणाम आने के बाद वे पहले पखवाड़े में ही गांव पांझ पहुंचीं थीं। यहां के ग्रामीणों ने उनका जोरदार स्वागत करते हुए चांदी का मुकुट पहनाकर अभिनंदन किया था।

जिला पंचायत सदस्य और भाजपा नेता कैलाश रघुवंशी बताते हैं कि वे भाषण के दौरान काफी भावुक हो गई थीं। उन्होंने इसी दौरान गांव को गोद लेते हुए मुकुटमणि का खिताब दिया था। इस गांव के विकास के लिए उन्होंने कुछ घोषणाएं भी की थीं। चुनाव के बाद भी वे पांझ के बारे में पूछती रहती थीं।

चुनाव में सहयोगी रहे अशोक गोयल के मुताबिक चुनाव प्रचार के दौरान वे छोटी-छोटी बातों का भी ध्यान रखतीं थीं। दिल्ली में पहले कार्यकाल में नेता प्रतिपक्ष रहने के बावजूद वे विदिशा से दिल्ली जाने वाले लोगों से अलग से मिलतीं थीं।

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस