नटेरन( नवदुनिया न्यूज)। किसानों के लिए प्राकृतिक आपदा के साथ- साथ बेसहारा मवेशी भी मुसीबत बन गए है। मवेशियों के झुंड रात के समय खेतों में घुसकर गेहूं, चना और मसूर की फसलों को चट कर रहे है। गुरुवार को पमारिया गांव के परेशान किसान इन मवेशियों को घेरकर मुख्य चौराहे की सड़क पर ले आए और चक्काजाम कर दिया। करीब एक घण्टे तक शमशाबाद, गंजबासौदा और सिरोंज के मार्ग पर आवागमन ठप रहा। मौके पर पहुंचे नायब तहसीलदार आनंद जैन और नटेरन थाना प्रभारी यूपीएस चौहान द्वारा इन मवेशियों को ग्राम सेऊ की गोशाला में भिजवाने के बाद चक्काजाम समाप्त हो पाया। प्रशासन द्वारा फौरी तौर पर की गई इस व्यवस्था से सेऊ की गोशाला में परेशानी खड़ी हो गई। इस गांव की दो गोशालाओं में पहले से ही साढ़े तीन सौ मवेशी रखे हुए है। यहां 125 मवेशी और भेज देने से उन्हें रखना मुश्किल हो गया है।

ग्राम पमारिया के किसान प्रमोद तिवारी, मान सिंह कुशवाह ,रघुवीर दीक्षित ने बताया कि बेसहारा मवेशियों की वजह से हमारे गांव की फसलों में बहुत नुकसान हो रहा है, जिस किसान के खेत में मवेशी घुस गए उसकी फसल चौपट कर देते हैं । मवेशियों की वजह से किसानों को खेतो की निगरानी के लिए रतजगा करना पड़ता है । विगत 15 दिन से ग्रामीण किसान प्रशासन से गुहार लगा रहे हैं कि इन्हें कहीं भी गोशाला में भेज दिया जाए, लेकिन प्रशासन ने ध्यान नही दिया। किसानों ने बताया कि वे दो दिन पहले सभी मवेशियों को घेरकर मरखेड़ा एवं बूधोर की गोशाला में शिफ्ट करने के लिए ले गए थे लेकिन वहां के ग्रामीणों ने एवं गोशाला प्रबंधन समिति ने मवेशियों को रखने से इंकार कर दिया । ऐसी स्थिति में उन्हें गुरुवार को चक्का जाम करना पड़ा। चक्काजाम की सूचना लगते ही लगभग एक घंटे बाद नायब तहसीलदार आनंद जैन एवं थाना प्रभारी यूपीएस चौहान पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे एवं ग्रामीणों की समस्या सुनी। बाद में इन मवेशियों को ग्राम सेऊ की गोशाला में शिफ्ट कर दिया गया।

क्षमता से अधिक गोशालाओं में भेजे मवेशी

वहीं एक तरफ सेऊ की दोनों गौशाला में लगभग 350 मवेशी पहले से ही हैं जो की क्षमता से अधिक है वही अब लगभग 125 आवारा मवेशी पमारिया के शिफ्ट कर दिए हैं, जिससे यहां अव्यवस्था हो गई है। सेऊ के ग्राम प्रधान मुन्नाा लाल अहिरवार ने बताया कि लगभग 8 माह से ग्राम की दोनों गौशालाओं में शासन की तरफ से कोई भी राशि नहीं आई। एक तरफ 350 मवेशी दोनों गौशालाओं में हैं जोकि क्षमता से 150 ज्यादा है। प्रशासन ने अब 1205 मवेशी और भेज दिए। वे उनके चारे पानी की व्यवस्था कहा से करें। उन्होंने बताया कि पिछले महीने नटेरन एसडीएम विजय रॉय ने सेऊ की दोनों गोशालाओं का निरीक्षण किया था तब उन्होंने वहां क्षमता से अधिक मवेशी देखे तो उनका कहना था कि इन मवेशियों को दूसरी अन्य गोशाला में शिफ्ट किया जाएगा लेकिन अब उल्टा इसी गौशाला में 125 मवेशियों को और भेज दिए गए।

दो- दो बीघा की फसल खा गए मवेशी

पमारिया के किसान रघुवीर दीक्षित ने बताया कि उन्होंने चार बीघा में 306 गेहूं की फसल बोई थी । मवेशियों ने एक रात में खेत मे घुसकर लगभग दो बीघा की फसल खा ली। इनके अलावा गंगाराम धाकड़ , मोहित तिवारी सहित दर्जनभर किसानों की एक से दो बीघा की फसलें मवेशी चट कर गए है।

एसडीएम बोले, गोशालाओं में करेंगे व्यवस्था

एसडीएम विजय राय का कहना है कि हमने गो संवर्धन बोर्ड में चर्चा की है। जल्द ही दोनों गोशालाओं में व्यवस्था के पुख्ता इंतजाम किए जाएंगे और पर्याप्त चारागाह की व्यवस्था की जाएगी। दूसरी ग्राम पंचायतों में भी गोशालाएं पूर्ण होने वाली है। इन मवेशियों को दूसरी जगह शिफ्ट करवा दिया जाएगा।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local